AlmoraUttarakhand

राम ने किया ताड़का और सुबाहु का संहार

29views

अल्मोड़ा। श्री रामलीला कमेटी कर्नाटक खोला में रामलीला महोत्सव के दूसरे दिन श्री राम ने ताड़का और सुबाहु संहार किया। दशरथ-विश्वामित्र संवाद, अहिल्या उद्धार एवं गौरी पूजन आदि का मंचन किया गया| अचानक से बड़ी ठण्ड और हल्की बूँदाबारी के बावजूद भारी संख्या में दर्शकों ने रामलीला का आनंद लिया तथा कलाकारों द्वारा हर एक प्रसंग की अद्भुद प्रस्तुति ने दर्शको मंत्रमुग्ध कर दिया। बेटियों को बढ़ावा दिए जाने के लिए विख्यात कर्नाटक खोला रामलीला में इस वर्ष भी ज्यादातर कलाकार बालिकाएं ही है। जिनका अभिनय देखने दूर—दूर से दर्शक रामलीला मैदान में पहुंच रहे है। श्री राम की पात्र विनीता बाफिला, लक्ष्मण की पात्र कुलता बाफिला और सीता की पात्र दिव्या पाटनी ने अपने सुंदर अभिनय से सभी से वाहवाही लूटी और दर्शको को भाव विभोर कर दिया। दूसरे दिन की रामलीला के मुख्य अतिथि युवा व्यवसायी अरुण वर्मा ने द्धीप प्रज्जवलिक कर रामलीला का शुभारंभ किया। अरुण वर्मा ने क्षेत्र में हो रहे विकास कार्य और नवनिर्मित बहुउद्देशीय केंद्र एवं रामलीला मंच के लिए कमेटी के अध्यक्ष एवं पूर्व राज्यमंत्री बिट्टू कर्नाटक की प्रसंशा की और उन्हें ऐसे सामाजिक कार्य करने के लिए बधाई दी। कमेटी के अध्यक्ष कर्नाटक ने सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए उनको प्रतीक चिन्ह्न देकर तथा अंगवस्त्र भेट कर सम्मानित किया। इसके बाद नन्ही—मुन्नी बालिकाओं द्वारा प्रस्तुत कुमांऊनी वंदना देवी भगवती मैया और कत्थक नृत्य पर आधारित हिंदी वंदना माँ सरस्वती शारदे का मंचन किया गया। ताड़का के पात्र दीपक जोशी, मारीच के पात्र कमलेश बिष्ट, सुबाहु के पात्र गौरव जोशी, दशरथ के पात्र मनीष तिवारी, विश्वामित्र के पात्र अक्षय कुमार, गौरी की पात्र ख़ुशी जोशी आदि ने अपने सुंदर अभिनय से सबका दिल जीत लिया। इस अवसर पर देवेंद्र प्रसाद कर्नाटक, डॉ. करन कर्नाटक, हृदेश तिवारी, हेम जोशी, मनी, नमन तिवारी, अनिल रावत, पूरन चंद्र जोशी, लीलाधर कांडपाल, मोहन चंद्र कर्नाटक, बद्री प्रसाद कर्नाटक, द्वीप चंद्र कर्नाटक, तनोज कर्नाटक, रोहित शैली, अमित मल्होत्रा, बिपिन जोशी आदि मौजूद थे।

Leave a Reply