Jan SamasyaPithoragarhUttarakhand

मुसीबत : मौसम ख़राब होने से व्यास घाटी में फंसी दस हजार भेड़ें व घोड़े, भेड़ों के नवजातों की ठंड से हो रही मौत

12views

पिथौरागढ़। धारचूला के व्यास घाटी में दस हजार भेड़ व एक हजार से अधिक घोड़े फंसे हुए हैं। उच्च हिमालयी क्षेत्र में मौसम के अचानक खराब होने से ठंड बढ़ गई है। उत्तराखंड भेड़ पालक संघ ने एक सप्ताह में नेपाल के रास्ते पैदल यात्रा के लिए मार्ग नहीं बनने पर 15 अक्टूबर को एसडीएम कार्यालय धारचूला में धरना प्रदर्शन करने की चेतावनी दी है। भेड़ पालक संघ के प्रदेश अध्यक्ष जगत मर्तोलिया ने बताया कि बी.आर.ओ.की सड़क के निर्माण से व्यास घाटी का पैदल मार्ग चलने लायक नहीं है। माईग्रेशन के लिए उच्च हिमायली क्षेत्र में गये भेड़ व घोड़े वहां फस गये हैं। दस दिन पहले संघ ने जिलाधिकारी से मिलकर उन्हे पत्र देकर यह मामला उठाया था। अभी तक कोई कार्यवाही नहीं होने से भेड़ पालक बेहद परेशान हैं। मर्तोलिया ने बताया कि भेड़ों के इस बीच बच्चे हो रहे हैं। भेड़ सितम्बर लास्ट में तराई की ओर वापस लौट जाते थे, इस बार वहीं फसे हुए हैं। ठंड से दर्जनों भेड़ के बच्चे मर चुके हैं। मर्तोलिया ने कहा कि जिला प्रशासन को पहले ही पैदल मार्ग चालू करने के लिए सोचना चाहिए। कहा कि उक्त समय सीमा के भीतर नेपाल से पुल बनाकर भेड़ व घोड़ों को नीचे उतारने की व्यवस्था नहीं की गई तो आंदोलन किया जायेगा। मर्तोलिया ने कहा कि इसके लिए भेड़पालको से सम्पर्क किया जा रहा है।

Leave a Response