PithoragarhPolitics

डीडीहाट जिले की मुहिम को लगा झटका, संघर्ष समिति ने शामिल होने से किया इंकार

5views

​पिथौरागढ़। डीडीहाट जिले की मुहिम को सीमांत ने जोर का झटका धीरे से दिया। सीमांत जिला संघर्ष समिति ने कहा कि हम डीडीहाट जिले में नहीं मिलना चाहते हैं। कहा कि हमें मुनस्यारी व धारचूला को मिलाकर सीमांत जिला चाहिए। समिति के अध्यक्ष जगत मर्तोलिया ने बताया कि सीमांत की जनता किसी भी नये जिले में शामिल नहीं होना चाहती है। इसके लिए सीमांत जिले का प्रस्ताव पच्चीस सालों से लंबित है। मर्तोलिया ने कहा कि अभी राज्य की माली हालात ठीक नहीं है, इसलिए हम सीमांत जिले के लिए आंदोलन नहीं कर रहे हैं। बताया कि राजस्व परिषद ने भी सीमांत जिले की मांग के प्रस्ताव पर सर्वे किया है। बागेश्वर मात्र एक तहसील था जिसे जिला बनाया गया है। सीमांत में तो चार तहसीले हैं। भूगोल के आधार पर रुद्रप्रयाग, चम्पावत, बागेश्वर के नाम से बने जिलों को देखें तो सीमांत जिले का प्रति वर्ग किमी क्षेत्रफल इनमें सबसे ज्यादा है। मर्तोलिया ने कहा कि सीमांत की चार तहसीलें सबसे अधिक पिछड़ी हैं। यहां के विकास के लिए इस जिले का बनना जरुरी है। प्रदेश सरकार को हर घर से पोस्ट कार्ड़ भेजा जाएगा। कहा कि वर्तमान सरकार के मुखिया से मुलाकात भी की जायेगी। मर्तोलिया ने कहा कि वर्तमान जिले के मुख्यालय से 55 किमी की दूरी पर नया जिला बनाने का कोई तुक नहीं है। नया जिला 145 किमी की दूरी पर बनना चाहिए। कहा कि हम किसी भी सूरत में डीडीहाट जिले में शामिल नहीं होना चाहते हैं।

Leave a Response