AccidentCNE SpecialCrimeHaridwarInterviewJan SamasyaNationalPoliticsRoorkeeUttar PradeshUttarakhand

देखिए, रूड़की कांड का सच : तेरहवीं पर नहीं पिलाई गई थी शराब

1.03Kviews

रूड़की। शराब कांड पर सीएनई द्वारा जुटाए गए बयानों और सबूतों से साफ होता जा रहा है कि सात फरवरी को हुए तेरहवीं के भोज में कच्ची शराब नहीं पिलाई गई थी। तेरहवीं जैसे काम में शराब का सेवन वैसे भी किसी के गले नहीं उतर रहा था। अब जब मरने वालों के संख्या 70 के आसपास जा पहुंची है तो यह शक और मजबूत होता जा रहा है कि इतनी ज्यादा संख्या में शराब पिलाने का काम तेरहवीं वाले घर में नहीं हो सकता। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने भी प्रशासन की इस थ्योरी पर सवालिया निशान लगाते हुए कहा है कि सहारनपुर में कच्ची शराब पीने से चार मुसलमानों की भी मौत हुई है जबकि वे तेरहवीं के भोज में शामिल ही नहीं हुए थे। साफ है कि बिंडू, खड़क और बालूपुर गांवों में कच्ची शराब का धंधा जोरशोर से व सरेआम चलता है। चिकित्सालयों में भर्ती कई मरीजों ने भी कैमरे के सामने स्वीकारा है कि उन्होंने दुकानों पर से शराब खरीदी थी। इस पूरे प्रकरण पर देखिए हमारा स्पेशल कार्यक्रम रूड़की कांड का सच…

Leave a Response