BageshwarCrimeUttarakhand

फर्जी काल सेंटर चलाने वाले गिरोह का एक सदस्य कानपुर से गिरफ्तार

18views

बागेश्वर। एक माह पूर्व दर्ज किये गये 11,40,000 रुपये की धोखाधड़ी के मुकदमे में पुलिस ने फर्जी काल सेन्टर चलाने वाले गिरोह के सदस्य को कानपुर से गिरफ्तार किया है। यह गिरोह लोगों से फोन पर बात कर उनके खाते की जानकारी लेता था व उनके खाते से रुपये दूसरे खाते में ट्रांसफर कर देता था। सात फरवरी को थाना कपकोट में मनीष जैन ने उसके साथ हुई 11,40,000 रुपये की धोखाधड़ी की प्राथमिकी दर्ज कराई थी। पुलिस ने धारा 420 के तहत मुकदमा दर्ज किया था। पुलिस अधीक्षक ने संबंधित पुलिस कर्मियों को आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी का निर्देश दिया था। टेक्निकल टीम द्वारा दी गई लीड के आधार पर एक आरोपी दीपक सिंह पुत्र कृष्ण सिंह निवासी रेवड़ी (भीमसेन) कानपुर देहात, उत्तर प्रदेश को उसी के गांव से गिरफ्तार ​कर लिया गया। आरोपी से पूछताछ में पता चला कि उनके गैंग में और लोग भी शामिल हैं। पुलिस की पूछताछ में दीपक ने बताया कि उसके गैंग के साथी लोगों से फोन पर काल करके बातें करते हैं और जो व्यक्ति इनकी बातों में फंसने लगता है उसे अन्य लोगों को सीनियर ऑफिसर बताकर दो-तीन महीनों तक बातें कराते हैं। बाद में उन्हें भरोसे में लेकर उनके बैंक खाते से सम्बन्धित आवश्यक जानकारी प्राप्त कर उनके धन को अन्य व्यक्ति के बैंक खातों में ट्रांसफर कर लोगों के साथ धोखाधड़ी करते हैं। ये लोग पीड़ित व्यक्तियों के बैंक खाते, एटीएम व मोबाइल नम्बर प्राप्त कर उन नम्बरों से अन्य लोगों को भी फंसाया करते हैं। उसने अपने फरार साथियों के नाम आशीष सिंह पुत्र गुलाब सिंह, दीपक पुत्र हीरामन, धर्मेन्द्र पुत्र ज्ञानेन्द्र आदि बताये हैं। आरोपी को गिरफ्तार करने वाली टीम में उप निरीक्षक लोकेश रावत कांस्टेबल जितेन्द्र पाल व एसओजी कर्मी शामिल हैं।

Leave a Response