BageshwarEducationUttarakhand

मौजूदा शिक्षा व्यवस्था बना रही है हमें आत्म केंद्रित: जहूर आल

74views


राजकीय स्नाकोत्तर महाविद्यालय बागेश्वर के विद्यार्थियों को बताई थिएटर की बारीकियां


बागेश्वर। राजकीय स्नाकोत्तर महाविद्यालय बागेश्वर में नव सृजित सांस्कृतिक समूह धुन द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में मशहूर थिएटर शख़्सियत युगमंच के संयोजक जहूर आल ने कालेज में विद्यार्थियों से रूबरू होकर थिएटर की बारीकियां बताई। साथ ही जीवन में रंगमंच की अहमियत पर प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि किस तरह से थिएटर व्यक्ति के व्यक्तित्व को बदल देता है। उन्होंने युगमंच के दर्जनों ऐसे कलाकारों के बारे में बताया जो आज एनएसडी, एफटीआईआई, एडी फिल्म्स और बॉलीवुड में परचम लहरा रहे हैं। उन्होंने कहा मौजूदा शिक्षा व्यवस्था हमें आत्म केंद्रित बना रही है। उन्होंने समाजिक बनने और खुल कर खुद को अभिव्यक्त करने की अपील की। ‘धुन’ की स्थापना बागेश्वर नगर में सांस्कृतिक माहौल को सुदृढ़ करने तथा बच्चों में थिएटर जैसी विधाओं को बढ़ावा देने की सोच के साथ महाविद्यालय के कुछ प्राध्यापकों ने की है। जिनमें डॉ. जीवन उपाध्याय, संजय तिवारी, वीरेंद्र दानू, दिव्या, रश्मि और नीरज सिंह पांगती शामिल हैं। कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ. भगवती नेगी व संचालन नीरज सिंह पांगती ने किया।

Leave a Response