AlmoraUttarakhand

मौसम पहाड़ों का….जाड़े का यह मौसम वर्षा की पड़ी फुहार, सर्द हवाओं का अहसास, बर्फवारी का इंतजार

201views

हल्द्वानी/रानीखेत/अल्मोड़ा। सोमवार की सांय सर्द हवाओं ने मौसम का मिजाज़ बदल दिया है। यह तो मालूम नहीं कि हिमपात होगा या नहीं, लेकिन बारिश की हल्की-फुलकी फुहारें ठिठुरन पैदा कर रही हैं। लिहाजा अल्मोड़ा और रानीखेत में लोगों का हजूम जगह-जगह अलाव जलाकर सर्द से निजात पाता हुआ दिख रहा है। हल्द्वानी में भी काफी देर से बारिश हो रही है और सर्दी की ठिठुरन का अहसास हो रहा है। ज्ञात रहे कि विगत कई माहों से क्षेत्र में सर्दी के मौसम में वर्षा व हिमपात नही होने से जहां एक ओर कास्तकार मायूस दिख रहे थे, वहीं प्राकृतिक जल श्रोत भी सूखने की कगार में पहुंच गए थे। वर्षा नही होने से मवेशियों के चारे की समस्या के साथ जंगलों में आग लगने का सिलसिला जारी हो जाने से लोगों में प्रकृति के बिगडते मिजाज से मायूसी साफ देखी जा रही थी। सोमवार को अचानक मौसम ने करवट बदलते दोपहर समय बाद आकाश में बादल छाने के बाद सांय समय तेज हवाओं के साथ जारी आधे घंटे की वर्षा से लोगों ने राहत की सांस ली। वहीं जल रहे जंगलों की आग भी खामोश हो गई। गौरतलब है कि दिसबंर माह में वर्षा व हिमपात होता था, लेकिन इस वर्ष क्षेत्र में न तो वर्षा हुई न ही हिमपात। सर्द हवाओं के चलते कड़ाके की ठंड से लोग खाशे परेशान थे। वर्षा व हिमपात नही होने से काश्तकार काफी मायूस दिख रहे थे, वहीं प्राकृतिक जल श्रोतों के साथ नदियों का जल स्तर भी काफी गिर गया था। लोगों को गर्मियों के मौसम में पेयजल समस्या का डर सताने लगा था। जंगलों में लगातार आग लगने से मवेशियों के चारे की समस्या भी विराट रुप धारण करने लगी थी। सोमवार को चैबटिया, मालरोड, दूनागिरी, द्वाराहाट सहित नगर क्षेत्र में हुई वर्षा से लोगों ने राहत की सांस ली। देर रात भी वर्षा व हिमपात होने आसार दिख रहे है।

Leave a Response