CNE SpecialEducationNainitalNationalPoliticsUttarakhand

ये कैसा फरमान! मोदी आएंगे रूद्रपुर और पूरे जिले के स्कूलों की हो गई छुट्टी

4.59Kviews

रुद्रपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 14 फरवरी को रूद्रपुर में होने वाली जनसभा के लिए शिक्षा विभाग ने अलग ही तरह से कमर कसी है। जिला शिक्षा अधिकारी ने उस दिन यातायात व्यवस्था बिगड़ने के संदेह को देखते हुए जिले भर के तमाम स्कूलों की छुट्टी का ऐलान कर दिया है। इस ऐलान में यह सरकारी व गैरसरकारी स्कूलों का भेदभाव भी नहीं किया गया है। जिन विद्यालयों में 14 फरवरी को प्रयोगात्मक परीक्षा पहले से निर्धारित हैं, वहां पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार ही प्रयोगात्मक परीक्षा होगी। अब सवाल यह है कि रूद्रपुर में होने वाली रैली के लिए जिले भर के स्कूलों को बंद करने का फरमान सुनाने वाले जिला शिक्षा अधिकारी को पूरे जिले में यातायात व्यवस्था बिगड़ने की आशंका किस आधार पर हुई। हमने इस सवाल कोजब मुख्या शिक्षा अधिकारी अशोक कुमार सिंह से पूछा तो उन्होंने वहीं लाइनें दोहरा दीं जो अपनी अधीनस्थ अधिकारियों को लिखे गए पत्र में उन्होंने लिखीं हैं। हम आपको बता दें कि उधमसिंह नगर एक बड़़े भूभाग में फैला हुआ जनपद है। जिसका अधिकांश हिस्सा ग्रामीण है। हम मानते हैं कि नरेंद्र मोदी चर्चित शख्सियत हैं, और उन्हें सुनने के लिए बहुत से लोग भी आएंगे। लेकिन सरकारी, गैरसरकारी, सरकारी सहायता प्राप्त, मान्यताप्राप्त, सीबीएसई और आईसीएससी बोर्ड के स्कूलों में छु​ट्टी घोषित करने का फरमान समझ से परे ही लग रहा है। प्रधानमंत्री को सुनने के लिए तो कुमाऊं भर से लोग आएंगे। तो क्या सड़कों पर चलने वाली गाड़ियों के कारण दूसरे जनपदों में भी स्कूलों की छुट्टी घोषित कर देनी चाहिए। बच्चों की परीक्षाएं सिरपर हैं और वे दिन रात एक करके अपनी पढ़ाई कर रहे हैं ऐसे में एक दिन की छुट्टी भी उन्हें नागवार गुजर रही है। दूसरी ओर चुनाव भी सिर पर हैं और नेता आने वाले दिनों में भी उत्तराखंड के अलग—अलग जिलों में आएंगे तो क्या उन्हें सुनने के लिए आने वाले लोगों की वहज से होने वाली यातायात समस्या के कारण आने वाले समय में भी इसी परिपाटी का पालन किया जाएगा। यह कौन बताएगा किसी को नहीं मालूम।

Leave a Response