Jan SamasyaUttarakhandUttarkashi

सालों से लाइब्रेरी में धूल फांक रही हैं पुस्तकें, एसडीएम ने कहा जनता को मिलेगा लाभ

86views

बड़कोट (जय प्रकाश बहुगुणा)—नगर पालिका परिषद बड़कोट के राजकीय इण्टर कालेज में जिला पुस्तकालय की हजारों किताबें वर्षों से धूल फांक रही हैं। विद्यालय प्रशासन ने एक कमरे में जिला पुस्ताकालय के फर्नीचर व पुस्तकों को बन्द किया हुआ हैं। आम लोगों को इन पुस्तकों का कोई लाभ नहीं मिल पा रहा हैं। ‘जय हो’ ग्रुप के पदाधिकारियों ने उपजिलाधिकारी को इसकी जानकारी दी। जिसके बाद एसडीएम अनुराग आर्य ने इण्टर कालेज पहुंचकर लाइब्रेरी का औचक निरीक्षण किया। मालूम हो कि जिला पुस्तकालय की एक शाखा विगत 20 सालोें से बड़कोट में स्वीकृत हैं। लेकिन उचित स्थान न मिलने से लाखों की पुस्तकें और फर्नीचर राजकीय इण्टर कालेज के एक कमरे में सालों से धूल फांक रहे हैं। ‘जय हो’ ग्रुप के सदस्य मोहित, उत्तम रावत, रणवीर सिंह रावत, सुनील थपलियाल, दिनेश, ओमकार, नितिन, भगवती रतूड़ी आदि ने उपजिलाधिकारी अनुराग आर्य से मिलकर उन्हें बताया कि कई सालों से जिला पुस्तकालय की एक शाखा बड़कोट में स्वीकृत है। उसके लिए आईं लाखों की बेशकीमती पुस्तकें अलमारियों में बन्द हैं। बताया गया कि लाइब्रेरी के लिए लाखों का फर्नीचर भी आया था। उसका उपयोग भी नहीं हो पा रहा हैं। बताया गया कि आम लोगों के लिए बड़कोट में पुस्तकों के वाचनालय की व्यवस्था नहीं हैं। इसके बाद एसडीएम ने इण्टर कालेज का औचक निरीक्षण कर देखा कि लाखों की पुस्तकें किसी के प्रयोग में नही आ रही हैं। उन्होंने प्रधानाचार्य को पुस्तकालय को बड़े हाल में शिप्ट करने व आम लोगों तक इसकी सुविधा पहुंचाने के दिशा निर्देश दिये। उन्होेने कहा कि लाइब्रेरी की बड़कोट में नितान्त आवश्यकता हैं। पुस्तकालय होने के बाद भी आम लोगों को इसका लाभ नही मिल पा रहा हैं। इस मौके पर प्रधानाचार्य जोधराम, रामआसरे सिंह चौहान, सुनील, भगवती, मोहित, उत्तम सिंह, रणवीर सिंह आदि मौजूद थे।

Leave a Response