— गोपालनाथ गोस्वामी की रिपोर्ट —

रानीखेत। यहां गोविंद सिंह मेहरा राजकीय चिकित्सालय में खून चढ़ाने पहुंचे थैलीसीमिया बीमारी से पीड़ित बच्चों के लिए समाजसेवी अमन शेख किसी फरिश्ते से कम नही रहे। उनके द्वारा जरूरतमन्द बच्चों को चल रहे रोजे के दरमियान रक्त देकर इंसानियत का फर्ज अदा किया गया। राजकीय चिकित्सालय के ब्लड बैंक प्रभारी एसिस्टेंट अजय मेहरा एवं मित्र विनीत चौरसिया द्वारा बताया गया कि कुछ थैलीसीमिया बीमारी से पीड़ित बच्चे ब्लड चढ़ाने के लिए आ रहे हैं। जिनको लगभग हर 2 हफ्ते में खून की जरूरत पड़ती है। अगर उनको खून ना मिले तो उनको जान का भी खतरा हो सकता है, जबकि कोरोना महामारी के चलते बैंक में डोनर नही जा पा रहे हैं। जिस कारण ब्लड बैंक में उचित मात्रा में खून उपलब्ध नहीं था। इसलिए नियमित डोनर अमन शेख को ही रक्त लेने के लिए संपर्क साधा।

अमन शेख ने रोजे की हालत में यह फैसला किया कि वह उन्हें अपना रक्त देगा। अमन ने खुदा का भी शुक्रिया अदा किया। कहा कि रमजान के पवित्र महीने में उसने यह नेक काम किया। अमन का कहना है कि कोरोना वायरस की बीमारी की वजह से रक्तदान करने वालों में काफी गिरावट आई है, जिसकी वजह से उचित मात्रा में ब्लड बैंक में ब्लड उपलब्ध नहीं है। अमन ने लोगों से अपील है की है कि ज्यादा से ज्यादा रक्तदान करें। इसे करने से किसी भी प्रकार की भी बीमारी नही होती है।




Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here