अल्मोड़ा : कोरोना काल में तिगुनी कर दी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों की फीस, गुस्साए एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने फूंका सीएम का पुतला

2

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा
कोरोना काल में औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में विद्यार्थियों की फीस में तीन गुना बढ़ोत्तरी किए जाने से गुस्साए एनएसयूआई छात्रों ने आज यहां चौघानपाटा में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का पुतला फूंका और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।
पुतला दहन के मौके पर एनएसयूआई के प्रदेश महासचिव गोपाल भट्ट ने कहा कि भाजपा सरकार ने इस महामारी के दौरान भी लगातार छात्र विरोधी फैसले लिए हैं। उन्होंने कहा कि औधोगिक प्रशिक्षण संस्थानों की फीस विगत वर्षों सालाना लगभग 1200 के आसपास ली जाती थी, लेकिन सरकार द्वारा अचानक तुग़लकी फरमान जारी करके 3 गुनी यानी लगभग 3900 कर दी है। जो कि छात्र हितों का हनन है। उन्होंने कहा कि यह सरकार शिक्षा का निजीकरण करने का काम कर रही है। दिन—प्रतिदिन औधोगिक प्रशिक्षण संस्थानों के साथ अन्य विश्वविद्यालयों में अध्ययनरत छात्रों की फीस बढ़ायी जा रही है। जिसका औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में अध्ययनरत छात्र व भारतीय राष्ट्रिय छात्र संगठन विरोध कर रहा है। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर फीस पूर्ववत नही की गई तो उग्र आंदोलन किया जायेगा। इसके बाद छात्रों ने जोरदार नारेबाजी के साथ सीएम का पुतला दहन किया। इस मौके पर गोपाल मोहन भट्ट, पंकज कुमार, रोहन टनक, पूर्व छात्रसंघ कोषाध्यक्ष अभिषेक बनौला, गोविंद प्रसाद, रितिक नयाल, मीडिया प्रभारी दीपक सिंह, दीपा नेगी, गोपाल सिंह सिजवाली, दिनेश गोस्वामी, सूरज सिजवाली, दिनेश जोशी, हिमांशु जोशी, प्रिंस कोठारी, पंकज भैसोड़ा, नीरज डंगवाल आदि एनएसयूआई कार्यकर्ता मौजूद थे।

Previous articleरामनगर न्यूज़ : कृषि विधेयक बिल के विरोध में केंद्र सरकार व प्रधानमंत्री के खिलाफ नारेबाजी-प्रदर्शन
Next articleबागेश्वर : कोषागार पहुंचे डीएम ने अभिलेखों को देखा, रख-रखाव के दिए निर्देश

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here