• राजकीय ठेकेदार के हमलावरों की गिरफ्तारी नहीं होने से आक्रोश

सीएनई रिपोर्टर, बागेश्वर
राजकीय ठेकेदार के हमलावरों की गिरफ्तारी नहीं होने पर उनके परिजनों व बिरादरी के लोगों ने कड़ी आपत्ति जताई है। नाराज लोगों ने कोतवाली घेरी और धरना दिया। पुलिस पर हमलावरों को बचाने का आरोप लगाया। दो दिन के भीतर गिरफ्तारी नहीं होने पर बड़े आंदोलन की चेतावनी दी है। बाद में सीओ के समझाने के बाद वह शांत हुए।

अमर सिंह परिहार के नेतृत्व में लोग शुक्रवार को कोतवाली में धमक गए। यहां नारेबाजी के साथ प्रदर्शन किया। उसके बाद उन्होंने धरना दिया। उनका कहना है कि 29 अगस्त की रात ठेकेदार नवीन परिाहर के साथ रोहित रावत, विनोद शाही और कुशी राम ने जानलेवा हमला किया। हमले के बाद उनकी हालत नाजुक बनी हुई है। उनका हल्द्वानी अस्पताल में इलाज चल रहा है। इसकी शिकायत पुलिस से दूसरे दिन की कर दी थी। इसके बाद भी पुलिस ने अभी तक किसी की भी गिरफ्तारी नहीं की गई है। जिससे हमलावरों के हौसले बुलंद हैं। उन्होंने दो दिन के भीतर गिरफ्तारी नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है। जिन लोगों ने हमला किया वह अब झूठे मुकदमा दर्ज कर दबाव बना रही है। सत्ता पक्ष का भी इन लोगों को सह दी जा रही है।




उन्होंने कहा कि दो दिन के भ्रमण पर सीएम पुष्कर धामी जिले में आ रहे हैं। उनके सामने भी समस्या रखी जाएगी। इसके बाद भी समस्या नहीं सुलझी तो आंदोलन किया जाएगा। इस मौके पर दानुली देवी, किरन परिहा, प्रेमा परिहार, रवीना परिहार, चांदनी परिहा,आनती परिाहर,सरिता परिहार, बबीता परिहार, भावना देवी, रुचि परिाहर, पार्वती देवी व जमुना देवी आदि मौजूद रहे। इधर सीओ शिवराज सिंह राणा ने नाराज ग्रामीणों को आश्वासन देकर शांत किया।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here