बुरी ख़बर : भारत में पैदा हुआ Corona का सबसे घातक स्वरूप AP Strain, इसके आगे पस्त पड़ रही इंसानों की Immunity power, South india में जन्मा Maharashtra तक पहुंचा….

462

कोरोना संक्रमण से जूझ रहे भारत के लिए इससे बुरी ख़बर शायद ही कोई अन्य हो सकती है। यहां चिकित्सा विज्ञानियों ने कोरोना का एक नया घातक स्ट्रेन ढूंढ निकाला है। यह इतना घातक है कि सिर्फ तीन से चार दिन में अच्छे—खासे स्वस्थ व्यक्ति को मौत के कगार पर खड़ा कर सकता है।

सबसे चिंताजनक दो पहलू तो यह हैं कि पहला इसके बारे में वैज्ञानिक अधिक नही जान पाये हैं, दूसरा यह कि यह पूरी तरह फिट और युवा लोगों को भी बहुत आसानी से संक्रमित कर रहा है। इसके आगे किसी की इम्युनिटी पावर भी काम नही आ रही है।

आंध्र प्रदेश में हुई इसकी खोज
आपको बता दें कि एपी स्ट्रेन (AP Strain) यानी N440K नामक यह नया भारतीय वैरिएंट को सबसे पहले आंध्र प्रदेश के कुरनूल में खोजा गया था। यह वैरिएंट B1.617 और B1.618 वैरिएंट से ज्यादा ताकतवर है। विशाखापट्नम के डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर वी.विनय चंद ने बताया कि CCMB में इस समय कई वैरिएंट्स की जांच की जा रही है। कौन सा वैरिएंट कितना खतरनाक है ये तो CCMB के साइंटिस्ट ही बता पाएंगे, लेकिन यह बात सच है कि नया स्ट्रेन मिला है। उसके सैंपल प्रयोगशाला में भेजे गए हैं।

बहुत तेजी से फैल रहा एपी स्ट्रेन
ऐसा देखने में आ रहा है कि कोरोना वायरस का नया एपी स्ट्रेन (AP Strain) यानी N440K वैरिएंट जल्दी विकसित हो रहा है। इसका इनक्यूबेशन पीरियड और बीमारी फैलाने की
समय सीमा कम है। ये काफी तेजी से फैल रहा है। साथ ही ज्यादा लोगों को संक्रमित कर रहा है। इस स्ट्रेन से संक्रमित लोग 3 से 4 दिन में ही गंभीर हालत में पहुंच जा रहे हैं।

स्वस्थ और शक्तिशाली व्यक्तियों को बना रहा निशाना
आपको बता दें कि इस बार नए वैरिएंट तेजी से लोगों को बीमार कर रहे हैं। एपी स्ट्रेन (AP Strain) यानी N440K वैरिएंट को लेकर अभी वैज्ञानिक भी परेशान हैं, क्योंकि इसके बारे में ज्यादा कुछ बता पाना मुश्किल हो रहा है। यह वायरस से तेजी से युवा लोगों को टारगेट कर रहा है। ये उन्हें भी नहीं छोड़ रहा है जो फिटनेस का ख्याल रखते हैं। या फिर जिनकी इम्यूनिटी बहुत मजबूत है।

दावा : करोना के नये स्ट्रेन कर रहे इंसानों पर शक्ति प्रदर्शन
ऐसा देखने को मिल रहा है कि दक्षिण भारत के आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और तेलंगाना में इस समय एपी स्ट्रेन (AP Strain) यानी N440K वैरिएंट काफी तेजी से फैल रहा है। महाराष्ट्र से तुलना करें तो वहां पर अभी सबसे ज्यादा असर B.1.617 वैरिएंट का असर है। लेकिन अब वहां भी एपी स्ट्रेन (AP Strain) यानी N440K वैरिएंट पहुंच चुका है।

हाल ही में प्रयोगशाला में हुए परीक्षण के दौरान पता चला है कि ये अलग-अलग वैरिएंट्स यानी स्ट्रेन लोगों को संक्रमित करने के लिए आपस में प्रतियोगिता करते हैं। यानी किस वैरिएंट ने कितने लोगों को संक्रमित किया। क्योंकि ये खुद को जिंदा रखने के लिए ऐसा करते हैं। एपी स्ट्रेन (AP Strain) यानी N440K वैरिएंट भी ऐसी ही प्रतियोगिता में भाग ले रहा है। इससे संक्रमित लोगों की संख्या दक्षिण भारत में बढ़ रही है।

उत्तराखंड में टूटे कोरोना के सारे रिकार्ड, बीते 24 घंटे में 7 हजार से अधिक संक्रमित, 85 की गई जान, 56 हजार 627 संक्रमण की चपेट में

पुलिस वालों का भी घर—परिवार होता है ! Corona पीड़ित पत्नी की देखभाल के लिए नही दी छुट्टी तो CO साहब ने whatsapp पर कप्तान को भेज दिया इस्तीफा

Previous articleALMORA BREAKING: कोविड केयर अस्पताल में 10 अतिरिक्त स्वच्छक व 6 वार्ड ब्वाय रखने की मंजूरी, डीएम नितिन सिंह भदौरिया ने अस्पताल जाकर परखीं व्यवस्थाएं, जिले में ऑक्सीजन सिलेंडरों का अधिग्रहण शुरू, 18 सिलेंडर अधिग्रहीत
Next articleAlmora News : रेडक्रास सोसाइटी ने लिया कोरोना मरीजों की शिकायतों का संज्ञान, मेडिकल कालेज व बेस चिकित्सालय प्रबंधन से की कार्रवाई की मांग

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here