• लगातार चलेगी छापेमारी, सौ से पांच लाख तक जुर्माना
  • डीएम रीना जोशी ने बैठक लेकर दिए सख्त निर्देश
    सीएनई रिपोर्टर, बागेश्वर

    जिले में अब सिंगल यूज प्लास्टिक उत्पादों का विनिर्माण, आयात, भंडारण, वितरण, बिक्री व उपयोग पूर्णरूप से प्रतिबंधित होगा। इस प्रतिबंध का उल्लंघन करने वाले को 100 रुपये से 05 लाख रुपये का जुर्माना हो सकता है। ये बात जिलाधिकारी रीना जोशी ने शनिवार को कलेक्ट्रेट सभागार में व्यापार मंडल, होटल, खोखा-फड़ एसोसिएशन के प्रतिनिधियों व संबंधित अधिकारियों की बैठक में कही। उन्होंने कहा कि जनपद को पाॅलीथिन मुक्त करने के लिए छापेमारी होगी। 15 अगस्त 2022 तक जिले को पाॅलीथिन मुक्त करने का लक्ष्य तय किया है।

जिलाधिकारी ने कहा कि अधिशासी अधिकारी नगर निकाय, उपजिलाधिकारी अपने-अपने क्षेत्रों में पालीथीन उपयोग एवं बिक्री करना प्रतिबंधित है। लोगों को जागरूक किया जाएगा। छापेमारी होगी और पालीथिन जब्त की जाएगी। पालीथिन का उपयोग करने और कराने वालों से जुर्माना वसूला जाएगा। 15 अगस्त तक जनपद को पालीथीन मुक्त बनाना है। उन्होंने सभी से पालीथिन उन्मूलन को प्रशासन का सहयोग करने को कहा। पुलिस और राज्यकर अधिकारी नाको पर सघन चेकिंग अभियान चलाएंगे। मुख्य शिक्षधिकारी सरकारी, प्राइवेट स्कूलों में प्रार्थना सभा के दौरान पालीथिन से होने वाले नुकसान की जानकारी देंगे। उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति पालीथीन में सामाग्री ले जाता है तो सौ रुपये, खुदरा विक्रेता को एक लाख रुपये, परिवहनकर्ता को दो लाख, उत्पादनकर्ता को पांच लाख रुपये तक जुर्माना पहली बार पकड़े जाने पर लगेगा। उसके बाद यह राशि दोगुनी होगी। बैठक में पुलिस अधीक्षक अमित श्रीवास्तव, प्रभागीय वनाधिकारी हिमांशु बागरी, अपर जिलाधिकारी सीएस इमलाल समेत सभी विभागों के अधिकारी मौजूद थे।
ये हैं बैठक के निर्णय

👉बागेश्वर जिले में सिंगल यूज प्लास्टिक पर पूरी तरह प्रतिबंध।
👉निकाय क्षेत्र में पालिका और अन्य अपने क्षेत्रों में उपजिलाधिकारी करेंगे छापेमारी।
👉15 अगस्त तक जिले को पूरी तक पॉलिथीन मुक्त करने का लक्ष्य।
👉 पॉलीथीन में सामग्री ले जाते हुए पाये जाने पर 100 रूपये जुर्माना।
👉बेचते हुये पकड़े जाने पर 1 लाख का जुर्माना।
👉परिवहन करने पर 02 लाख का जुर्माना।
👉उत्पादन करने पर 05 लाख रूपये का जुर्माना।


- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here