रुद्रपुर। कोरोना को हराने के लिए लोग तरह—तरह से समाज सेवा कर रहे हैं। अधिकांश लोग अपनी जेब से खर्च करके भूखे और मजबूर लोगों की मदद कर रहे हैं। इस आपाधापी में किसी ने यह नहीं सोचा कि यदि कोरोना की दवाई विकासित कर भी ली जाए तो उसके परीक्षण इंसानी शरीर पर किए जाने होंगे ऐसे में इसांनी देह कहां से मिलेगी। यही सोच कर आगे आए हैं
आबकारी इंस्पेक्टर बलजीत सिंह । उन्होंने कोविड -19 कोरोना वायरस को समाप्त करने के लिए तैयार होने वाली वैक्सीन के परीक्षण लिए देह दान करने की घोषणा की। उन्होंने बाकायदा प्रेस वार्ता आयोजित करके अपने उद्गार मीडिया के सामने रखे। आबकारी इंस्पेक्टर बलजीत सिंह ने राष्ट्रपति को भेजे पत्र में कोरोना वायरस के वैक्सीन परीक्षण के लिए देह दान करने की इच्छा जताई है। उन्होंने एसा ही पत्र उत्तराखंड के मुख्यमंत्री को भी भेजा है।
बलजीत सिंह महोली उधमसिंह नगर जिले के बाजपुर के रहने वाले हैं।वर्तमान में वह खटीमा में तैनात है। बलजीत सिंह के अनुसार भारतीय चिकित्सक कोरोना से निपटने के लिए वैक्सीन तैयार करने में दिन रात एक कर रहे हैं। ऐसे में इसके टेस्ट के लिए मानव देह की जरूरत होगी।ताकि वैक्सीन का सफल परीक्षण कर टीका विकसित किया जा सके। उन्होंने पत्र में कहा की वैक्सीन के सफल परीक्षण के लिए देह त्यागने की अनुमति दी जाये। उन्हें जब भी परीक्षण के लिए बुलाया जायेगा वह मौजूद रहेंगे।
बलजीत का चयन लोक सेवा आयोग उत्तराखंड एलाइड पीसीएस परीक्षा में आबकारी निरीक्षक के पद पर हुआ था।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here