सावधान ! इन 10 राज्यों में तीन अप्रैल को दाखिल होगी हीटवेव, कोरोना के बाद अब पड़ेगी लू के थपेड़ों की मार, जारी हुआ अलर्ट

6

📰 खबरों के लिए जुड़े व्हाट्सप्प ग्रुप से 👉 Click Now 👈

सीएनई रिपोर्टर
कोरोना के संकट से जूझ रहे देश को अब गर्म हवा के थपेड़ों को भी झेलना पड़ेगा। इंडियन मीटियरोलॉजिकल डिपार्टमेंट (IMD) ने आगाह किया है पड़ोसी देश पाकिस्तान से आ रही हीटवेव 3 अप्रैल को उत्तर प्रदेश, हिमाचल सहित पूरे 10 राज्यों में दाखिल होगी। अप्रैल से जून तक लू के जबरदस्त प्रकोप को झेलना पड़ सकता है।
उल्लेखनीय है कि आज देश भर के कई राज्यों में मई माह की तरह गर्मी का अहसास होने लगा है। हीटवेव विशेषज्ञ और वैज्ञानिक नरेश कुमार ने बताया कि इस तरह की गर्म हवाएं पाकिस्तान में भी देखी जा रही हैं। पाकिस्तान में भी कुछ जगहों पर पारा 45 डिग्री तक पहुंच चुका है। ये हीटवेव ही राजस्थान के रास्ते भारत के मैदानी क्षेत्रों तक पहुंच रही है। इधर इंडियन मीटियरोलॉजिकल डिपार्टमेंट (IMD) ने भी अप्रैल से जून के बीच तेज गर्मी पड़ने का अनुमान लगाया है। राजस्थान सहित कुछ राज्यों में पारा 40 डिग्री के पार हो चुका है। IMD ने राजस्थान, मध्यप्रदेश, UP समेत 10 राज्यों में 3 अप्रैल को हीटवेव चलने का अलर्ट जारी किया है। IMD के डायरेक्टर जनरल मृत्युंजय मोहपात्रा ने बताया कि राजस्थान में चलने वाली हीटवेव दूसरे मैदानी क्षेत्रों में भी तापमान बढ़ाएंगी। इससे पहले दिल्ली में मैक्सिमम टेम्परेचर का 76 साल का रिकॉर्ड पहले ही ब्रेक हो चुका है। दिल्ली में सोमवार को पारा 40.1 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया था। उधर गर्मी ने उत्तर प्रदेश में भी कहर ढाया हुआ है। यहां मार्च में दूसरी बार 10 सालों का रिकॉर्ड टूटा है। उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा गर्मी बीते दिन झांसी में दर्ज की गई। यहां अधिकतम तापमान 42.3 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। इसके अलावा पहाड़ी राज्य हिमाचल प्रदेश भी तप रहा है। हिमाचल प्रदेश के ऊना में बीते दिन पारा 34.3 डिग्री और शिमला में 23.2 डिग्री पर पहुंच गया। यह सामान्य से 6 डिग्री ज्यादा है। जिन राज्यों में हीटवेव का अलर्ट जारी हुआ है। उनमें राजस्थान, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश, उड़ीसा, तमिलनाडू, पांडुचेरी शामिल है। वहीं 3 अप्रैल के बाद से उत्तराखंड में भी तापमान में बड़ा अंतर आयेगा। यहां भी मैदानी भू—भागों में लू के थपेड़ों से लोगों को जूझना पड़ सकता है।

Previous articleBAGESHWER NEWS: योजना का लाभ नहीं मिलने नाराज छात्राएं पहुंची डीएम कार्यालय
Next articleALMORA NEWS: सल्ट उप चुनाव: पारदर्शी व निष्पक्ष चुनाव को कसी कमर, पीठासीन व मतदान अधिकारियों व सैक्टर व जोनल मजिस्ट्रेटों को दी तालीम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here