हरिद्वार में विजिलेंस की टीम ने जिले के सीएमएस के सहायक को रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया गया है। जिसके बाद परिसर में हड़कंप मच गया है। विजीलेंस की टीम आरोपी के घर भी गई है।

सीएमएस के सहायक संजीव जोशी ने एक व्यक्ति का 17 हजार का बिल पास करने की एवज में उससे 02 हजार रूपये की मांग करी। जिस पर विजीलैंस के डीआईजी अरूण मोहन जोशी से शिकायत की गई। जिसके बाद विजीलैंस की टीम ने एक जाल बिछाया। जैसे ही सीएमएस के सहायक ने रूपये पकड़े ​टीम ने उसे रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

कोरोना से जंग : कोरोना के नये वैरिएंट ने बढ़ाई चिंता, पढ़िये कब तक आ रही बच्चों की वैक्सीन…


👉👉  ताजा खबरों के लिए WhatsApp Group को जॉइन करें 👉 Click Now 👈

प्राप्त जानकारी के अनुसार देहरादून से आई विजिलेंस टीम ने जिला चिकित्सालय में तैनात वरिष्ठ सहायक को एक पुलिसकर्मी के मेडिकल बिल को पास करने के नाम पर दो हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। टीम आरोपी को गिरफ्तार कर अपने साथ ले गई। अब विजिलेंस टीम आरोपी से पूछताछ कर उन अधिकारियों का पता लगाएगी जो रिश्वत के इस खेल में आरोपी के साथ शामिल थे। ताजा खबरों के लिए WhatsApp Group को जॉइन करें 👉 Click Now 👈

देहरादून इकाई की विजिलेंस टीम प्रमुख श्वेता चौबे को एक पुलिसकर्मी ने शिकायत की थी कि हरिद्वार स्वास्थ्य विभाग में तैनात वरिष्ठ सहायक संजीव जोशी उससे 17 हजार का मेडिकल बिल पास करने के नाम पर 2 हजार की रिश्वत मांग रहा है। पैसा न देने के कारण उसने बीते कई दिनों से बिल को अटकाया हुआ है।

उत्तराखंड ब्रेकिंग : पुलिस ने निकाल ली दफनाई गई लड़की की लाश, भड़के ग्रामीण

आरोपी वरिष्ठ सहायक मुख्य रूप से पौड़ी में तैनात है और हरिद्वार में ही अटैच है। बताया जा रहा है कि सरकारी विभाग का कोई भी मेडिकल बिल बिना इसकी संस्तुति के पास नहीं हो सकता था, जिसका इसने जमकर फायदा भी उठाया। आरोप है कि यह किसी भी कर्मचारी का मेडिकल बिल बिना रूपये लिये पास ही नही करता था।

इधर सूत्रों के अनुसार पीड़ित ने बिल पास न करने की शिकायत पहले स्वास्थ्य विभाग के कुछ अधिकारियों से भी की थी लेकिन किसी ने आरोपी के खिलाफ न तो कारवाई की और न ही बिल पास करवाया। जिसके बाद पीड़ित पुलिसकर्मी ने इसकी शिकायत विजिलेंस से की। गिरफ्तारी के बाद अब विजिलेंस टीम कर्मचारी से उन लोगों का नाम पता करने में लग गयी है जिनका इसे संरक्षण प्राप्त था। ताजा खबरों के लिए WhatsApp Group को जॉइन करें 👉 Click Now 👈

उत्तराखंड : महिला से अभद्रता का आरोपी एसआई निलंबित, जांच के आदेश

विजिलेंस टीम में मुख्य रूप से सीओ एसएस सामंत, निरीक्षक मनोज रावत, तुषार बोरा सहित कई पुलिसकर्मी शामिल थे। विजिलेंस टीम जगजीतपुर कनखल स्थित आरोपी के घर भी पहुंची, जहां टीम ने करीब 2 घंटे घर को खंगालने के बाद वहां से भी कुछ नगदी व दस्तावेज कब्जे में लिए हैं।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here