BREAKING NEWS: बागेश्वर में कोरोना संक्रमित शिक्षक की मौत; जिले में इस साल कोरोना से पहली मौत; अब 18 हुई संख्या; बेहतर इलाज को हल्द्वानी जाना चाहते थे लेकिन पहले ही निगल गया काल

3048
द्विवंगत शिक्षक नीरज पंत (फाइल फोटो)

सीएनई रिपोर्टर, बागेश्वर
बागेश्वर जिले के राजकीय प्राथमिक विद्यालय सौली कौसानी में कार्यरत शिक्षक नीरज पंत (42 वर्ष) की मौत हो गई है। उनकी आरटीपीसीआर रिपोर्ट में कोरोना पॉजिटिव आने की पुष्टि हुई है। इस वर्ष कोरोना से बागेश्वर जिले में यह पहली मौत है, जबकि गत वर्ष जिले में कोरोना से 17 व्यक्तियों की मौत हो गई थी।

राजकीय प्राथमिक विद्यालय सौली कौसानी के शिक्षक नीरज पंत कौसानी स्टेजिंग एरिया में ड्यूटी पर थे। गत 18 अप्रैल को उन्होंने आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए सैंपल दिया था। जांच रिपोर्ट गत दिवस यानी 25 अप्रैल को उनकी आरटीपीसीआर टेस्ट में कोरोना पॉजिटिव की रिपोर्ट आई। इसके बाद शिक्षक नीरज पंत ने इंसीडेंट कमांडर, स्टेजिंग एरिया कौसानी के माध्यम से मुख्य विकास अधिकारी/नोडल अधिकारी बागेश्वर को पत्र लिखा। जिसमें खुद की खुद की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने की बात लिखी है और कहा है कि वह अपने बेहतर इलाज के लिए हल्द्वानी जाना चाहते हैं। पत्र में इसके लिए अनुमति का अनुरोध किया गया है।

कोरोना सब लील गया: पूर्व विधायक के अंतिम संस्कार के दिन पत्नी का निधन, बेटा भी संक्रमित, हालत गम्भीर

हमारे WhatsApp Group को जॉइन करें 👉 Click Now 👈

🔥 सीएनई के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

इसकी सूचना मिलने पर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बैजनाथ से एंबुलेंस भेजी गई और नीरज पंत को बाद में एंबुलेंस से उन्हें कोविड अस्पताल बागेश्वर ले जाया गया। मगर गत रात्रि वहां पहुंचने से पहले ही उन्होंने दम तोड़ दिया।

इधर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बैजनाथ के प्रभारी चिकित्साधिकारी डा. राजेश गुंज्याल ने कोरोना पॉजिटिव शिक्षक नीरज पंत की मौत की पुष्टि की है और बताया कि शिक्षक नीरज पंत इनदिनों कौसानी स्टेजिंग एरिया में ड्यूटी पर थे। गत 18 अप्रैल को उनका आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए सैंपल लिया गया था और 25 अप्रैल को यह रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उन्हें एंबुलेंस से ट्रामा सेंटर/कोविड अस्पताल बागेश्वर भेजा गया। जहां पहुंचने पर रात उनकी मौत हो गई। इससे बागेश्वर जिले में कोरोना से मरने वालों की संख्या 18 हो गई है। शिक्षक नीरज पंत की मौत इस वर्ष बागेश्वर जिले में कोरोना से पहली मौत है।

BAGESHWER NEWS: रात जंगली सुअर फसल रौंद रहे हैं, तो दिन में बंदर उजाड़ रहे खेती, समस्या से आजिज आए किसान, वन विभाग से लगाई गुहार

शिक्षक स्व. पंत अपने पीछे पत्नी व दो छोटे बच्चों को रोता-बिलखता छोड़ गए हैं। उनके निधन की भनक लगते ही शिक्षकों में शोक की लहर फैल गई है। उन्हें लेकर अस्पताल गए जूनियर शिक्षक संघ के पूर्व जिलाध्यक्ष सुरेंद्र वर्मा ने बताया कि शिक्षक नीरज पंत के पास सौली के साथ बघरी प्राथमिक विद्यालय का भी चार्ज था। उनके निधन पर सुरेंद्र वर्मा, उमेश जोशी, राजकीय शिक्षक संघ विजय गोस्वामी, आलोक पांडे, प्राथमिक शिक्षक संघ के नवीन मिश्रा आदि ने गहरा शोक व्यक्त किया है।

BREAKING NEWS: बागेश्वर फिर फूटा कोरोना बम और पांच दर्जन नये मामले आए

Previous articleबड़ी खबर हल्द्वानी : जिलाधिकारी ने किया आदेशों में संशोधन, अग्रिम आदेशों तक कोरोना कर्फ्यू लागू, होम डिलीवरी, फल, सब्जी, बैंकों के लिए ये नियम
Next articleUttarakhand Breaking : 100 से ज्यादा लोगों को थमा दी Fake corona negative report, एक की Covid infection से हुई मौत के बाद हुआ खुलासा, पढ़िये पूरी ख़बर….

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here