हल्द्वानी। अपर जिलाधिकारी अशोक जोशी की अध्यक्षता में कैम्प कार्यालय, हल्द्वानी में जिला बालश्रम कार्यबल की बैठक सम्पन्न हुई।

जिला नैनीताल में नेताजी सुभाष चंद्र बोसे आवासीय विद्यालय खुलवाने हेतु प्रस्ताव

अपर जिलाधिकारी द्वारा शिक्षा अधिकारी को जनपद नैनीताल हेतु नेताजी सुभाष चंद्र बोसे आवासीय विद्यालय खुलवाने हेतु प्रस्ताव प्रस्तुत करने हेतु निर्देशित किया। जिस पर श्रम अधिकारी द्वारा बालिकाओं के लिए भी पृथक से आवासीय विद्यालय खोलने का निवेदन किया गया, जिससे नैनीताल एवं अन्य जनपदों की पीड़ित एवं श्रमिक बालिकाओं का पुनर्वास किया जा सके। साथ ही बाल संरक्षण एवं श्रम विभाग द्वारा भी उक्त प्रस्ताव संयुक्त रूप से प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गये।

बैठक में अपर जिलाधिकारी द्वारा शिक्षा अधिकारी को जनपद नैनीताल हेतु नेताजी सुभाष चंद्र बोसे आवासीय विद्यालय खुलवाने हेतु प्रस्ताव प्रस्तुत करने हेतु निर्देशित किया। जिस पर श्रम अधिकारी द्वारा बालिकाओं के लिए पृथक से आवासीय विद्यालय खोले का निवेदन किया गया। जिससे नैनीताल एवं अन्य जनपदों की पीड़ित एवं श्रमिक बालिकाओं का पुनर्वास किया जा सके।


श्रम प्रवर्तन अधिकारी मीनाक्षी भट्ट ने बताया…

श्रम प्रवर्तन अधिकारी मीनाक्षी भट्ट ने बताया कि जनपद में चिन्हित बाल श्रमिकों की कुल संख्या 20 है, जिसके सापेक्ष 02 बाल श्रमिक को विद्यालय में दाखिला किया गया है तथा 05 किशोरों को सेवायोजन विभाग से ट्रेनिंग, स्किल डवलेपमैंट हेतु कार्यवाही गतिमान है। उन्होंने कहा जनपद के जितने भी चिन्हित बाल श्रमिक हैं उनको सीडब्लूसी के समक्ष प्रस्तुत कर माता-पिता की काउंसलिंग की गई।

श्रम अधिकारी नैनीताल मीनाक्षी भट्ट द्वारा बाल श्रम के प्रावधानों एवं दंड प्रक्रिया से सभी सदस्यों को अवगत कराया। माह अप्रैल से जून तक चलाए गए अभियान, निरीक्षण एवं रेस्क्यू एवं पुनर्वास की स्थिति से सदस्यों को अवगत कराया गया। रेस्क्यू किए गए बालकों को पुनः श्रमिक कार्य में लग जाने से उनके जीवन में परिवर्तन नहीं आता। वो एक स्थान से दूसरे स्थान चले जाते हैं और वहां मजदूरी करने लगते हैं। जिसके लिए श्रम अधिकारी द्वारा ऐसे बच्चों के लिए आवासीय विद्यालय खोलने हेतु निवेदन किया गया।

बाल संरक्षण अधिकारी व्योमा जैन ने बताया गया…

बाल संरक्षण अधिकारी व्योमा जैन ने बताया गया कि उनके विभाग द्वारा भी ऐसे बालकों हेतु सहायता राशि प्रदान की जाती है। बाल कल्याण समिति की अध्यक्ष द्वारा बताया गया की बहुत सी बालिकाएं भी पोकसो अथवा किसी अन्य प्रकार से पीड़ित होती हैं उनके पुनर्वास की कोई व्यवस्था नहीं हो पाती।

खंड शिक्षा अधिकारी गीतिका जोशी ने बताया…

खंड शिक्षा अधिकारी गीतिका जोशी ने बताया गया की ऐसे श्रमिक, अनाथ बच्चों के लिए उनके द्वारा काशीपुर में नेताजी सुभाष चंद्र बोस आवासीय विद्यालय बनवाए गये। उक्त विद्यालय केंद्र एवं राज्य द्वारा वित्तपोषित होते हैं। बालकों को शिक्षा के अतिरिक्त खेल, स्वास्थ्य एवं व्यावसायिक प्रशिक्षण भी प्रदान कि जाती है।

बैठक में एसपी सिटी हरबंस सिंह, अध्यक्ष बाल कल्याण समिति आरसी पंत, सदस्य सीडब्लूसी विनोद कुमार, गीता सुयाल, श्वेता वर्मा, पूनम भण्डारी के साथ ही एनजीओ के सदस्य उपस्थित थे।

हल्द्वानी : 1 अगस्त को जनपद भ्रमण पर आ रही हैं मंत्री रेखा आर्य

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here