सोशियल डिस्टेंसिंग के उल्लंघन पर सख्त हुआ प्रशासन, अब लॉकडाउन अवधि में यह होंगे बाजार खुलने के नियम

अल्मोड़ा। लॉकडाउन के तीसरे चरण की शुरूआत के साथ ही बाजार में उमड़ रही भीड़ को कम करने के लिए आज जिला प्रशासन व व्यापार मंडल ने आपसी सहमति से हल्द्वानी की तर्ज पर बारी—बारी से एक दिन दायीं व एक दिन बायीं बाजार खोलने का फैसला लिया है। कल बुधवार 6 मई से यह नया नियम लागू हो जायेगा।
उपजिलाधिकारी सदर सीमा विश्वकर्मा ने बताया कि निरीक्षण के दौरान यह पाया गया है कि बाजार में सभी प्रकार की दुकाने खुलने के कारण अत्यधिक भीड़ हो रही है। जिस कारण लॉक डाउन के नियमों व सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन हो रहा है। अतएव आज व्यापार मंडल अल्मोड़ा के पदाधिकारियों से वार्ता कर इस समस्या का हल निकाला गया है। इधर नगर अध्यक्ष सुशील साह ने बताया कि अब 6 व 8 मई को बाजार के दायें ओर स्थित तथा 7 व 9 मई को बायें ओर की बाजार खुलेगी।
श्री साह ने बताया कि यह दायें और बायें का निर्धारण अल्मोड़ा से कोसी की ओर जाने के हिसाब से लगाया जायेगा। यानी यदि नीचे माल रोड से निकलें तो स्टेट बैंक का दायें ओर वाला एरिया कल 6 मई को खुलेगा। इसी तरह बाजार में भी थाना बजार से शुरूआत कर​ते हुए सिर्फ दायें ओर की दुकाने खोली जायेगी। अगले रोज 7 मई को इसका उलटा होगा। यानी बायें ओर की दुकानें खोली जायेगी। जिनमें यदि कोसी की तरफ जायें तो रैमजे इंटर कालेज, खीम सिंह मोहन सिंह आदि के प्र​तिष्ठान, जो भी बायीं ओर आते हैं खोले जायेंगे। वहीं अति आवश्यकीय वस्तुओं की बाजार जैसे मेडिकल स्टोर, मिठाई की दुकानें, मोबाइल रीचार्ज, फल—सब्जी की दुकानें, बिल्डिंग मैटेरियल — सीमेंट, सरिया, ईंट, चश्मे की दुकानें आदि नित्य की तरह प्रतिदिन ही खुलेगी। बैठक में नगर अध्यक्ष सुशील साह, वरिष्ठ उपाध्यक्ष राजेंद्र प्रसाद, ​उपाध्यक्ष प्रत्येश पांडे, महासचिव मयंक बिष्ट, अनिता रावत, कार्तिक साह, मुमताज कश्मीरी, अमन नज्जौन, राहुल बिष्ट, ज्योति कपूरी आदि मौजूद थे।

नियमों के उल्लंघन पर शराब अनुज्ञापियों पर होगी कठोर कार्रवाई
एसडीएम सीमा विश्वकर्मा ने कहा कि यहां देशी—विदेशी मदिरा की दुकानों में अत्यधिक भीड़—भाड़ देखी जा रही है। जिससे लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन हो रहा है। अतएव ऐसे मदिरा अनुज्ञापी, जिनकी दुकान पर लॉकडाउन के नियमों एवं ​सोशियल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन पाया गया, उनके विरूद्ध भारतीय दं​ड संहिता की धारा 188 एवं आपदा प्रबंधन अनिनियम, 2005 व महामारी अधिनियम की सुसंगत धाराओं में कठोर कार्रवाई होगी।


- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here