अल्मोड़ाउत्तराखंड

अल्मोड़ा न्यूज: पुरानी पेंशन बहाली संयुक्त मोर्चा ने मनाया काला दिवस

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा
राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली संयुक्त मोर्चा ने आज पहली अक्टूबर को काला दिवस मनाया, क्योंकि 1 अक्टूबर 2005 को राज्य कर्मचारियों की पुरानी पेंशन को बंद कर नई पेंशन योजना लागू की थी। संगठन लंबे समय से पुरानी पेंशन योजना को लागू करने की मांग उठा रहा है।
राष्ट्रीय पुरानी पेंशन बहाली संयुक्त मोर्चा के आह्वान पर राज्य में पुरानी पेंशन योजना की जगह नई पेंशन योजना लागू करने के विरोध में आज कुमाऊं में हज़ारों राजकीय व कर्मचारियों में काला दिवस मनाया। कर्मचारियों ने अपने—अपने कार्यालयों में बांहों में काली पट्टी बांधकर व काला मास्क पहनकर विरोध जताया। मोर्चा के प्रदेश मीडिया प्रभारी त्रिभुवन बिष्ट ने बताया कि सभी सदस्यों ने सोशल मीडिया पर अपनी तस्वीर काली रखी और रात 8 से 9 बजे तक अपने घरों की लाइट बन्द रखी। उनका मानना है कि पहली अक्टूबर, 2005 को ही तत्कालीन राज्य सरकार ने नई पेंशन योजना लागू करके कार्मिकों के भविष्य को अंधकार में धकेला था। प्रदेश मीडिया प्रभारी त्रिभुवन बिष्ट ने कहा कि धरातल और सोशल मीडिया के माध्यम से हो रहे कार्यक्रमों में लगातार सभी कार्मिक उत्साहपूर्वक प्रतिभाग कर रहे हैं।
कुमाउं मण्डल के अध्यक्ष कपिल पांडे ने कहा कि पुरानी पेंशन योजना में कर्मचारियों को कई सुविधाएं थी, जो राहत देती थी, लेकिन अब कर्मचारी परेशान हैं। मण्डलीय सचिव सुबोध कांडपाल ने कहा कि सभी कर्मचारी अपने हक़ की लड़ाई के लिए आगे आ रहे हैं। इस अन्यायपूर्ण व्यवस्था को हटाकर ही दम लेंगे। उन्होंने कहा कि मांग को समझते हुए सरकार को पुरानी पेंशन योजना बहाल करनी चाहिए।मण्डलीय महिला उपाध्यक्ष रेनु डांगला ने कहा कि मोर्चे की महिला विंग में काला दिवस को सफल बनाने में बढ़—चढ़ कर हिस्सा लिया। कुमायूं मंडल में मोर्चा के उपाध्यक्ष राजीव कुमार, राजेन्द्र शर्मा, भास्करानंद, दया जोशी, मुरली भट्ट ने समस्त जिलों के कार्यक्रम को सफल बनाने में निर्णायक भूमिका अदा निभाई।

Leave a Comment!

error: Content is protected !!