— अल्मोड़ा के जीआइसी बाड़ेछीना में प्रभारी मंत्री की अध्यक्षता में लगा शिविर
— 103 शिकायतें हुई दर्ज, कई लोगों ने उठाया बहुद्देश्यीय शिविर का लाभ

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा: “सरकार जनता के द्वार” तथा “प्रशासन गांव की ओर” कार्यक्रम के अंतर्गत आज राजकीय इंटर कॉलेज बाड़ेछीना के परिसर में बहुउद्देशीय शिविर का आयोजन जनपद प्रभारी मंत्री डॉ. धन सिंह रावत की अध्यक्षता में आयोजित हुआ। जिसमें मंत्री के समक्ष 103 ​जन शिकायतें आईं। कई समस्याएं मौके पर ही निस्तारित हुईं। मंत्री ने कहा कि सरकार हो, शासन हो, चाहे प्रशासन, सभी जनता के लिए हैं एवं जनता सर्वोच्च है। उन्होंने जनसमस्याओं का गंभीरता से निस्तारण करने के निर्देश दिए।

Advertisement

शिविर में पहुंचने पर मंत्री धन सिंह रावत का भाजपा कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया। इसके बाद उन्होंने विद्यालय प्रांगण में लगे विभिन्न विभागीय स्टालों का अवलोकन किया तथा स्टाल कर्मियों से विभिन्न जानकारियां प्राप्त की और कहा कि इन स्टालों से लाभार्थियों को ज्यादा से ज्यादा लाभान्वित किया जाए। इसके बाद जिलाधिकारी वंदना एवं प्रशासन के अधिकारियों द्वारा शिविर में आए सभी अतिथियों का पुष्पगुच्छ देकर स्वागत किया। कार्यक्रम का शुभारंभ अतिथियों ने द्वीप प्रज्वलित कर किया। जीआईसी बाड़ेछीना की छात्राओं ने अतिथियों का स्वागत, स्वागत गीत एवं सरस्वती वंदना गाकर किया। जनसुनवाई के दौरान प्रभारी मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि शिकायतकर्ताओं के साथ अपने व्यवहार को अच्छा रखें और शिकायतों का निस्तारण गंभीरता से किया जाए। उन्होंने कहा कि यदि आवश्यक हो, तो सक्षम अधिकारी शिकायत का समाधान करने शिकायत का स्थलीय निरीक्षण भी करें एवं उसके समाधान की संभावनाओ को तलाश कर उसका निस्तारण करें। उन्होंने यहां राशन कार्ड के अधिक प्रकरणों के आने पर जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देश दिए कि सभी प्रकरणों का निस्तारण जल्द से जल्द किया जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि निरस्त किए गए राशन कार्डों की जांच की जाए तथा यह पता किया जाए कि राशन कार्डों में गलत तरीके से यूनिट तो नहीं कटे हैं।

शिविर में बिजली, सिंचाई, गैस आपूर्ति, राशन कार्ड, स्कूलों में शिक्षकों की तैनाती काटने जैसे 103 शिकायतों को जनता ने मंत्री धन सिंह रावत के सम्मुख रखा। इनमें से अधिकतर शिकायतों का निस्तारण मौके पर ही किया गया। श्री रावत ने सभी शिकायतों को सुना तथा उनके समाधान के लिए मौके पर ही अधिकारियों को निस्तारण के निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने कहा कि चाहे सरकार हो या शासन अथवा प्रशासन, सभी जनता के लिए हैं एवं जनता सर्वोच्च है। इसलिए जनता की भावनाओं के अनुरूप कार्य करें। उन्होंने लोगों से अपील की कि सभी अपनी हेल्थ आईडी अवश्य बनाएं, ताकि उन्हें 5 लाख तक का इलाज मुफ्त में दिया जाएगा। उन्होंने विभिन योजनाओं के बारे में भी जनता को बताया एवं उनसे लाभ उठाने की अपील की।

सांसद अल्मोड़ा अजय टम्टा ने कहा कि समस्याओं के निस्तारण के लिए संबंधित अधिकारी लगनशीलता से कार्य करें। उन्होंने कहा कि आगामी डीपीसी बैठक में शिविर में आई समस्याओं की समीक्षा होगी। शिविर में स्वास्थ्य विभाग, पर्यटन विभाग, उद्योग विभाग, बाल विकास विभाग, कृषि विभाग समेत विभिन्न विभागों के स्टाल भी लगे। जिनके माध्यम से पीएम किसान सम्मान निधि के 80 प्रकरणों का समाधान किया गया। 5 लोगों की पेंशन लगाई गई, एनआरएलएम के माध्यम एस 14 लाख की धनराशि सीसीएल स्वरूप स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं दी गई। समाज कल्याण विभाग से 3 व्हील चेयर, 7 कान की मशीन, 3 बैशाखी दी गई, 58 लोगों का स्वास्थ्य विभाग द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण कराया गया। उद्योग विभाग ने 20 रोजगारपरक आवेदन प्राप्त किए। पर्यटन विभाग ने 10 आवेदन प्राप्त किए और 110 लोगों का आयुर्वेदिक विभाग ने स्वास्थ्य परीक्षण किया।

शिविर में उपस्थित जिलाधिकारी वंदना ने भी सभी अधिकारियों को कहा कि शिविर में आई सभी लोगों की समस्याओं को गंभीरता से ले। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी समस्याओं का निस्तारण जल्द से जल्द किया जाए। उन्होंने सभी जिलास्तरीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि यदि समस्याओं के निस्तारण में उनके अधिनस्थों की लापरवाही सामने आए तो उनके खिलाफ कार्रवाई करें। इस शिविर में जिलाध्यक्ष भाजपा रमेश बहुगुणा, पूर्व विधायक कैलाश शर्मा, जिला कॉपरेटिव बैंक अध्यक्ष ललित लटवाल समेत अन्य जनप्रतिनिधि एवं गणमान्य व्यक्ति तथा सभी जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here