हल्द्वानी न्यूज : चला बंशीधर का सुदर्शन-मारा जाएगा दो बच्चों को घायल करने वाला गुलदार, फरमान पर उठने लगे सवाल

2

हल्द्वानी/बेरीनाग। हल्द्वानी और बेरीनाग में इंसानों के लिए मुसीबत बने दो तेंदुओं के लिए मौत का वारंट आ गया है। इनमें से एक हल्द्वानी के फतेहपुर क्षेत्र में सक्रिय है जबकि दूसरा पिथौरागढ़ के बेरीनाग क्षेत्र में एक बच्ची को मार चुका है। इस बीच जन दवाब और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत के निर्देश के बाद थोड़ी बहुत ना नुकुर के बाद वन विभाग ने इस तेंदुए को आदमखोर घोषित कर ही दिया। इस तेंदुए ने अब तक एक आठ माह की बच्ची और एक किशोरी पर हमला कर उन्हें गंभीर रूप से घायल कर दिया था।

हालांकि इस तेंदुए के नाम अभी तक कोई हत्या नहीं है और विशेषज्ञ कहते हैं कि आदमखोर घोषित किए जाने से पहले जंगली जानवर के नाम कम से कम एक मानव हत्या और उसे पकड़ने के कई प्रयास भी दर्ज होने चाहिए। लेकिन फतेहपुर के आदमखोर का मामला इस मामले में बिरला ही दिख रहा है। उसने दो हमले किए हैं लेकिन उसके नाम अभी तक कोई हत्या नहीं है। फिर पिछले बामुश्किल पांच दिनों के भीतर ही उसने तीनो हमले किए हैं। इससे पहले उसकी सक्रियता की जानकारी नहीं है। ऐसे में आनन फानन में उसे मार देने का फरमान एक तरफा निर्णय तो नहीं है। ऐसी सवाल भी दबी जुबान से उठने लगे हैं।

👍 सीएनई के फेसबुक पेज को लाइक करें

👉 सीएनई के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए क्लिक करें

🔥 सीएनई के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

माना यह जा रहा है कि भारी जन दवाब के चलते ऐसा निर्णय लिया गया है। कल ही क्षेत्रीय विधायक और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत भी डीएफओ से मिले थे। इसके बाद डीएफओ ने पीसीसीएफ को इस तेंदुए को आदमखोर घोषित करने का प्रस्ताव भेजा और शाम तक गुलदार को नरभक्षी घोषित भी कर दिया गया। गजब तो यह है कि बकौल डीएफओ मेरठ से दो शिकारी रात को हल्द्वानी पहुंच भी गए हैं।

इस मामले में हमने आज सुबह ही पीसीसीएफ जयराज से बात की। उन्होंने बताया कि इस मामले में हमें स्थानीय डीएफओ से बात करनी चाहिए। उन्होंने तो उनके प्रस्ताव में दर्शाई गई परिस्थितियों को देखते हुए प्रस्ताव को हरी झंडी दी है। इसके बाद हमने रामनगर के डीएफओ चंद्र शेखर जोशी से बात की।

उन्होंने बताया कि जंगली जानवर मानव जीवन के लिए खतरा बन गया था, इसलिए उसे आदमखोर घोषित कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि शिकारी रात को ही मेरठ से आ चुके हैं और आज से ​आदमखोर का चिन्हीकरण का कार्य शुरू होगा। दूसरी ओर पिथौरागढ़ के बेरीनाग में बच्ची को मार डालने वाले तेंदुए को भी आदमखोर घोषित कर दिया गया है।

? ताजा खबरें व्हाट्सएप ग्रुप Click Now ?

Previous articleअल्मोड़ा न्यूज : भाजपा ताकुला मंडल के कार्यकर्ताओं ने शीर्ष नेतृत्व का जताया आभार, प्रदेश कार्यकारिणी में पिलख्वाल व बिष्ट के मनोनयन पर हर्ष
Next articleमहाराज ने भास्कर नैथानी के निधन पर गहरी संवेदना व्यक्त की

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here