हल्द्वानी : तरसर झील हादसे में लापता गाइड का शव मिला, अभी भी लापता है डा. महेश

हल्द्वानी : अभी भी लापता है डा. महेश

हल्द्वानी अपडेट। कश्मीर की तारसर झील में लापता हुए गाइड का शव गुरुवार को बरामद कर लिया गया है, लेकिन अभी भी संजीवनी हॉस्पिटल हल्द्वानी के संचालक डा. महेश कुमार का कुछ पता नहीं चल सका है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक गाइड शकील अहमद का शव जिले के लिद्दरवर्थ इलाके में मिला। शकील उत्तरी कश्मीर के गांदेरबल जिले के गगनजीर गांव का रहने वाला था।

कश्मीर के तारसर झील (Tarsar Lake) क्षेत्र में ट्रैकिंग के लिए गए थे महेश

आपको बता दें कि, हल्द्वानी से 18 जून को संजीवनी हॉस्पिटल हल्द्वानी (Sanjeevani Hospital) के संचालक डा. महेश कुमार (Dr. Mahesh Kumar) अपने साथियों के साथ जम्मू-कश्मीर के तारसर झील क्षेत्र में ट्रैकिंग के लिए पहुंचे थे। उनके साथ तीन टूरिस्ट गाइड व 14 अन्य लोग भी थे। वहां तीन दिन से लगातार भारी बारिश के कारण दल ऊपर फंस गया।

यहां कश्मीर के पुलवामा के त्राल में तारसर झील पर पैदल चलने के लिए लकड़ी का पुल बना है। तेज बारिश में पुल टूटने के कारण संजीवनी अस्पताल हल्द्वानी के संचालक डा. महेश कुमार व उनके स्थानीय गाइड डा. शकील अहमद झील की तेज धारा में बह गए।


जारी है सर्च ऑपरेशन

पुलिस ने बताया कि, इस इलाके में सोमवार से ही लगातार बारिश और बफबारी हो रही है और पूरा ट्रेकिंग ग्रुप मंगलवार को लापता हो गए थे। बुधवार को पहलगाम पुलिस और स्थानीय प्रशासन द्वारा भेजे गए बचाव दल ने 10 पर्यटकों और 2 गाइडों को सुरक्षित निकाल लिया था। इस घटना में गाइड शकील अहमद और पर्यटक महेश लापता हो गए थे। गुरुवार को लापता गाइड शकील अहमद का शव जिले के लिद्दरवर्थ इलाके में मिला। लेकिन अभी भी संजीवनी हॉस्पिटल हल्द्वानी के संचालक डा. महेश कुमार का कुछ पता नहीं चल सका है। पुलिस द्वारा इलाके में सर्च ऑपरेशन जारी है।

संजीवनी हॉस्पिटल हल्द्वानी के संचालक डा. महेश कुमार कश्मीर की तारसर झील में डूबे

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here