हल्द्वानी। शनिवार को बेस चिकित्सालय मेे सभागार में अपर निदेशक समन्वयक डा. विनीता साह, सीएमओ डा. भारती राणा,पीएमएस बेस डा. हरीश लाल द्वारा 6 निजी चिकित्सालयों मे तैनात नोडल अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया तथा अधिग्रहित निजी चिकित्सालयों का प्रतिदिन निरीक्षण व रैफर मरीजों के उपचार तथा चिकित्सालयों मे रिक्त बेड, उपकरणों, उपस्थिति चिकित्सकों का आफलाइनव आनलाइन पोर्टल मेे रिपोर्टिंग फाॅरमेट की विस्तृत जानकारियां दी।
अपर निदेशक व समन्वयक डा. विनीता साह ने कहा कि प्रशासनिक अधिकारियों को नोडल अधिकारी बनाया गया है तथा उनके साथ एक चिकित्साधिकारी भी तैनात किया गया है ताकि रैफर मरीजों के उपचार मे कोई परेशानी न हो।

उन्होंने कहा कि नोडल अधिकारी प्रतिदिन निजी चिकित्सालय में रैफर मरीजों का उपचार सम्बन्धित जानकारियां चिकित्सकों तथा उनके तीमारदारों से प्राप्त कर फाॅरमेट में भरकर कमेटी सीएमओ व डा. विनीता साह को उपलब्ध करायेंगे। मुख्य चिकित्साधिकारी डा. भारती राणा व अपर निदेशक व समन्वयक डा. विनीत साह ने नोडल अधिकारियों से कहा कि गम्भीर रोगियों को ही उपचार हेतु रैफर कमेटी द्वारा निजी चिकित्सालयों मे रैफर किया जायेगा, इसलिए उनके उपचार में किसी प्रकार की कमी व हीलाहवाली ना हो, इस पर पैनी नजर रखेें तथा निजी चिकित्सालयों से बेहतर समन्वय स्थापित करते हुए रोगियों का उपचार करायें।

जिस चिकित्सालय द्वारा रोगियों के उपचार में हीलाहवाली संज्ञान मे आती है उसकी लिखित रिपोर्ट समिति व सीएमओ को देें ताकि उनके खिलाफ जिलाधिकारी के माध्यम से आपदा प्रबंधन एक्ट 2005, महामारी एक्ट 1897, उपचार मे शिथिलता बरतने पर मेडिकल काउन्सिल एक्ट 1956 तथा अन्य सुसंगत अधिनियमों के तहत कार्यवाही की जायेगी।
प्रशिक्षण में नोडल अधिकारी/जिला विकास अधिकारी रमा गोस्वामी, डा. धनपत कुमार, अनुलेखा विष्ट, संगीता आर्या, नारायण सिह दरम्वाल, विनीत कुरील,डा. अजय कान्त अग्रवाल, डा. मीना हृयांकी, डा. पूनम जंगपांगी, डा. मनोज सत्याल,डा. मीरा जोशी,डा. बबीता कन्याल,डा. मुकेश आर्य, डा. एएस भाट, डा. गुंज्याल आदि मौजूद थे।



Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here