— आज सुबह चारा पत्ती लेने जा रहे थे जंगल की तरफ
— जिंदगी व मौत के बीच झूल रहे लहूलुहान बुजुर्ग

Advertisement

सीएनई रिपोर्टर, बागेश्वर
मानव व जंगली जानवरों का संघर्ष बढ़ते जा रहा है। अब जिले के चुचेर गांव के एक बुजुर्ग पर भालू ने जबर्दस्त हमला कर दिया। उनका चेहरा बुरी तरह नोंच कर लहूलुहान कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। भालू के हमले के बाद जिंदगी और मौत की जंग लड़ रहे बुजुर्ग को लेकर परिजनों ने अस्पताल का रुख किया है। इस घटना से क्षेत्र में दहशत फैल गई है।

धरमघर वन क्षेत्र के अंतर्गत बुधवार की सुबह लगभग 07 बजे 68 वर्षीय भगत सिंह कोरंगा पुत्र स्व. दान सिंह कोरंगा चारा पत्ती लेने के लिए जा रहे थे। घर से महज 200 मीटर की दूरी पर गौना गधेरे पर भालू ने उन पर ताबड़तोड़ हमला बोल दिया। भालू ने उनके चेहरे को बुरी तरह नोंच दिया है। उन्होंने जान बचाने का भरपूर प्रयास किया और बचने के लिए ढलान की तरफ दौड़ लगा दी। भालू वहां से भाग गया और ग्रामीण भी घटना स्थल पहुंच गए। ग्राम प्रधान भूपाल सिंह ने बताया कि बुजुर्ग बुरी तरह से जख्मी है। वह जिंदगी और मौत के बीच झूल रहे हैं। अत्यधिक रक्तस्राव हो रहा है। उन्हें जिला अस्पताल लाया जा रहा है। वन क्षेत्राधिकारी धरमघर प्रदीप कांडपाल ने बताया कि घायल भगत सिंह कोरंगा को 10 हजार रुपये प्रदान किए गए हैं। ग्रामीण परसीलाल वर्मा, मान सिंह कोरंगा ने कहा कि वन विभाग का मरहम है। उन्होंने तत्काल अधिक से अधिक मुआवजा देने की मांग की है।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here