बिग ब्रेकिंग : मोदी, राजनाथ व अन्य हस्तियों के संपर्क में आए हिमाचल के सीएम और वन मंत्री सेल्फ आइसोलेट, कोरोना पाजिटिव विधायक के कांटेक्ट में आए थे, हड़कंप

1

📰 खबरों के लिए जुड़े व्हाट्सप्प ग्रुप से 👉 Click Now 👈

शिमला। दुनिया की सबसे ऊंचाई पर स्थित सबसे लंबी सुरंग का उद्घाटन करने आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कोरोना संक्रमण का खतरा मंडरा रहा है। दरअसल पूरे कार्यक्रम में प्रधानमंत्री के दाएं —बाएं रहे मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर अपने एक ऐसे विधायक के सीधे संपर्क में आ चुके थे जो कोरोना पाजिटिव था, और इस बात की जानकारी हिमाचल के स्वास्थ्य को भी थी। न सिर्फ ठाकुर बल्कि प्रदेश के वन मंत्री भी कोरोना संक्रमित विधायक के संपर्क में आए थे और वे भी पीएम से नजदीकी से बात करते देखे गए थे। अब मुख्यमंत्री और वन मंत्री दोनों ही सेल्फ आइसोलेशन में चले गए हैं। लेकिन सूत्रों के मुताबिक यह जानकारी अभी तक पीएमओ को नहीं दी गई है।

दरअसल 3 अक्तूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अटल टनल का उद्घाटन करने के लिए रोहतांग आए थे। उनके स्वागत को बीड़ा उठाया था मुख्यमंत्री जयराम ठाकुन और वन मंत्री वन मंत्री राकेश पठानिया ने । दोनों नेताओं के पीएम के साथ कई चित्र व वीडियो जारी भी हुए थे।

हिमाचल की खबरें मोबाइल पर पढ़ने के लिए लिंक पर क्लिक करें

https://chat.whatsapp.com/FdXfaGaJxHuIJXXUxifzRb

तब शायद किसी को पता नहीं था कि उनकी पीएम मोदी से यह नजदीकी बड़ी चिंता का सबब बन सकती है। दरअसल सीएम और वन मंत्री कोरोना पॉजिटिव आए कुल्लू के बंजार के विधायक सुरेंद्र शौरी के प्राइमरी कांटेक्ट में आ चुके थे। स्वास्थ्य विभाग को शौरी के कोरोना पॉजिटिव होने की रिपोर्ट टनल उद्घाटन कार्यक्रम से एक दिन पहले यानी 2 अक्तूबर को ही मिल गई थी।
बात पीएम तक ही सरमित नहीं है सीएम और वन मंत्री रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह व केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर के आसपास व उनसे मिलते जुलते देखे गए थे। अब मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने खुद को आइसोलेट कर लिया है। उनका कहना है कि शौरी के पॉजिटिव होने की जानकारी 3 अक्तूबर को मिली थी। उन्होंने बताया कि अभी तक प्रधानमंत्री कार्यालय को इसकी जानकारी नहीं दी गई है।  वहीं, अटल टनल कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी से नजदीक से बात करने वाले वन मंत्री राकेश पठानिया भी संक्रमित विधायक के संपर्क में आए थे। वह भी आइसोलेट हो गए हैं।
पठानिया ने कहा कि शौरी के पॉजिटिव आने की जानकारी मुख्यमंत्री के आइसोलेट होने के बाद मिली है। उनका कहना है कि उनकी शौरी से दूर से मुलाकात हुई थी और उस वक्त दोनों ने ही मास्क लगा रखे थे। फिर भी उन्होंने कोविड प्रोटोकॉल के तहत खुद को आइसोलेट कर लिया है। मुख्यमंत्री, मंत्री के आइसोलेट होने के साथ ही प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग व राजनैतिक गलियारों में हड़कंप मच गया है। भाजपा के संगठन महामंत्री पवन राणा, सीएम के राजनीतिक सलाहकार त्रिलोक जम्वाल समेत आधा दर्जन से ज्यादा नेता भी सेल्फ क्वारंटीन हो गए हैं।

Previous articleहल्द्वानी न्यूज : मंगल पड़ाव के पास सड़क खोद कर ओएफसी बिछा रही मोबाइल नेटवर्क कंपनी का सामान जब्त
Next articleहाथरस ब्रेकिंग : अब छह साल की रेप पीड़िता ने तोड़ा दम, शव को सड़क पर रख कर ग्रामीणों ने लगाया जाम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here