सीएनई रिपोर्टर

अफगानिस्तान में मौजूदा हालातों की लगातार कवरेज कर रहे भारतीय फोटो जर्नलिस्ट दानिश सिद्दीकी की तालिबानी हमले में मौत हो गई है। उनकी हत्या किये जाने की सूचना अफगानिस्तान के राजदूत फरीद ममुंडजे ने आज शुक्रवार को देते हुए बताया कि है कि कंधार में गुरुवार को भारतीय फोटो जर्नलिस्ट दानिश सिद्दीकी की कवरेज के दौरान हत्या कर दी गई है।

हालांकि यह सार्वजनिक तौर पर नही बताया गया है कि उनकी हत्या किन हालातों में हुई। इसके बावजूद यह समझा जा रहा है कि वह या तो तालिबानी हमले के दौरान मारे गये अथवा तालिबानी लड़कों की गिरफ्त में आने के बाद उनकी निर्मम हत्या हुई है। ताजा खबरों के लिए WhatsApp Group को जॉइन करें 👉 Click Now 👈

हालांकि सूत्र यह भी दावा कर रहे हैं कि गोलीबारी के दौरान उनकी मौत हो गई। फिर भी इस रहस्य से अभी पर्दा उठना शेष है कि उनके मौत का स्पष्ट कारण क्या था ? ज्ञात रहे कि तालिबान के आतंक के चलते अफगानिस्तान में हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। जगह—जगह हिंसा का आलम है। कंधार प्रांत में कवरेज के लिए भारतीय फोटो जर्नलिस्ट दानिश सिद्दीकी गये थे। बताया जा रहा है कि दानिश सिद्दीकी की हत्या कंधार के स्पिन बोल्डक इलाके में एक झड़प के दौरान हुई है।

👉👉  ताजा खबरों के लिए WhatsApp Group को जॉइन करें 👉 Click Now 👈

Pulitzer Prize से सम्मानित हो चुके दानिश सिद्दीकी की गिनती दुनिया के best photojournalist में होती थी। वह मौजूदा वक्त में अंतरराष्ट्रीय एजेंसी Reuters के साथ कार्यरत थे और Afghanistan में जारी हिंसा के कवरेज के लिए गए थे।

उन्होंने हाल में ही अपने twitter account पर अफगानिस्तान कवरेज से जुड़ी हुई तस्वीरें और वीडियो साझा की थी। इस दौरान Danish Siddiqui के काफिले पर कई बार हमला भी किया गया था, जिसका वीडियो भी उन्होंने साझा किया था। इस वक्त अफगानिस्तान में दुनिया के विभिन्न देशों से पत्रकार आये हुए हैं और वह यहां जारी संघर्ष की कवरेज कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि दानिश के अलावा Afghanistan’s Special Forces के सादिक करजई की भी मौत हो चुकी है।

आपको याद दिला दें कि अपने जीवन में दानिश का शानदार करियर रहा है। हाल में दिल्ली में हुई हिंसा, corona virus के संकट, लॉकडाउन, oxygen crisis के दौरान दानिश सिद्दीकी द्वारा क्लिक की गई pictures ने काफी सुर्खियां बटोरी थीं। इन तस्वीरों में देश के अलग-अलग हिस्सों के दर्द को दिखाया गया था।

13 जुलाई को देखी गई दानिश की अंतिम पोस्ट
दानिश इन दिनों अफगानिस्तान में reporting assignment पर थे। वह अपने कैमरे की नजर से Taliban attacks से हो रही हिंसा से दुनिया को रूबरू करा रहे थे। इस बीच उन्होंने ट्विटर पर एक तस्वीर भी साझा की थी, जिसमें उन्होंने लिखा था कि 15 घंटे के ऑपरेशन के बाद उन्हें महज 15 मिनट का ब्रेक मिला। 

दानिश ने Tweet में लिखा था- ”जिस हम्वी (बख्तरबंद गाड़ी) में मैं अन्य विशेष बलों के साथ यात्रा कर रहा था, उसे भी कम से कम 3 आरपीजी राउंड और अन्य हथियारों से निशाना बनाया गया था। मैं लकी था कि मैं सुरक्षित रहा और मैंने कवच प्लेट के ऊपर से टकराने वाले रॉकेटों के एक दृश्य को कैप्चर कर लिया।”

”सिद्दीकी ने हाल ही में एक पुलिसकर्मी को बचाने के लिए अफगान विशेष बलों के मिशन पर रिपोर्ट किया था, जिसमें उन्होंने बताया था कि कैसे वह पुलिस का जवान अपने साथियों से अलग हो गया था और तालिबान से घंटों तक अकेले ही लड़ा था। दानिश ने अपनी रिपोर्ट में उन तस्वीरों को भी शामिल किया था, जिसमें अफगान बलों के वाहनों को रॉकेट से निशाना बनाया गया था।”

इधर बताया जा रहा है कि दक्षिणी शहर कंधार में और उसके आसपास Taliban and Afghan forces के बीच भीषण लड़ाई जारी है। तालिबान ने शहर के पास के प्रमुख जिलों पर कब्जा कर लिया है। Kandahar में हालात अब बिगड़ते जा रहे हैं और यह जंग का अखाड़ा बन चुका है।

खुलकर तालिबान के खिलाफ तक बोल नही रहे कुछ तथा​कथित बुद्धिजीवी

यह भी उल्लेखनीय है कि दानिश दिल्ली के रहने वाले थे। कोरोना काल में खींची गई फोटो के जरिये भी वह चर्चा में आ गये थे। उनकी मौत के बाद एक बड़ा सवाल यह उठ रहा है कि आखिरकार उनकी मौत के बावजूद तथाकथित बौद्धिक वर्ग खुलकर तालिबान की आलोचना तो दूर तालिबान ने उनकी हत्या की है इसका जिक्र तक नही कर रहा है। उनके कई मित्रों ने जो ट्वीट जारी किया है उसमें केवल अपने साथ बिताये गये दिनों की बातों का जिक्र किया है, लेकिन हत्यारे तालिबान के खिलाफ खुलकर नही बोला गया है।

अन्य खबरें

देहरादून : कर्नल अजय कोठियाल समेत आप नेता गिरफ्तार, फ्री बिजली मुद्दे पर गए थे मुख्यमंत्री आवास

उत्तराखंड : फेसबुक से हुई दोस्ती, फिर नैनीताल के होटल में महिला से किया दुष्कर्म, पीड़िता ने कोतवाली में दी तहरीर, मुकदमा दर्ज

बालिका वधू में ‘दादी सा’ का किरदार निभाने वाली मशहूर अभिनेत्री सुरेखा सीकरी का निधन

Breaking : हल्द्वानी—अल्मोड़ा एनएच पर कार—ट्रक की जोरदार भिडंत, दो घायल हल्द्वानी रेफर, एक की हालत नाजुक

हल्दूचौड़ : मकान की छत गिरने से दो मजदूर दबे, एक की दर्दनाक मौत, एक घायल

उत्तराखंड में दौड़ा “फ्री बिजली” का करंट ! आप के बाद अब भाजपा—कांग्रेस की भी मुफ्त बिजली देने घोषणा, उत्तराखंड कैबिनेट में प्रस्ताव पेश करने की तैयारी

Haldwani : वहशी देवर ने अकेला पा भाभी से किया दुष्कर्म का प्रयास, नहाते वक्त की वीडियो भी बनाई, कोतवाली में मामला दर्ज

Big Breaking – भयानक हादसा : कुएं में गिरे बालक को बचाने के प्रयास में 04 पुलिस कर्मियों, एक ट्रेक्टर सहित 35 लोग कुएं में गिरे, चार की मौत, बचाव कार्य लगातार जारी….

ताजा खबरों के लिए WhatsApp Group को जॉइन करें 👉 Click Now 👈

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here