क्रिएटिव न्यूज एक्सप्रेस ब्यूरो

हल्द्वानी। नेता प्रतिपक्ष डा. इंदिरा हृदयेश ने कहा है कि कोरोना जैसी महामारी से निपटने के लिए फि​जीकल दूरी सबसे कारगर हथियार बन कर उभरा था,सरकार के निर्णय के मुताबिक शराब की दुकानें खुलने के बाद एक ही दिन में यह अनिवार्य बाध्यता एक दमदम टूटकर रह गई अब ऐसे में यदि कोरोना संक्रमण बढ़ता है तो इसकी तमाम जिम्मेदारी सरकार की मानी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार ने जिन लोगों को मुफ्त में राशन उपलब्ध कराया था उनका राशन भी समाप्त हो चला है। सरकार को चाहिए कि उन्हें अब राशन की दूसरी खेप भी उलब्ध कराए। उन्होंने कहा है कि सामाजिक संस्थाओं ने लॉक डाउन के दौरान बहुत राशन बांटा व भूखों को खाना खिलाया लेकिन अब उनकी हिम्मत भी जवाब दे चुकी है। इसलिए अब सरकार को हर व्यक्ति को राशन उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी संभालनी चाहिए। उन्होंने कहा है कि दुनिया भर के अर्थशास्त्रियों ने राय दी है कि राशन के अलावा गरीब लोगों के खातों में धन डालने की भी आवश्यकता है। ताकि वे दैनिक आवश्यकता की चीजों को खरीद सकें।
डा. इंदिरा ने कहा कि बेमौसम बारिश व ओलावृष्टि के कारण किसानों की खेती व बागवानी बर्बाद हो चुकी है। सरकार को इस तथ्य को भी संज्ञान में लेते हुए उन्हें तुरंत क्षतिपूर्ति देनी चाहिए।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here