उत्तराखंडकारोबारबागेश्वरसी एन ई विशेष

बागेश्वर न्यूज : अवैध रेता खनन गरीबों की रोटी का बना जुगाड़

बागेश्वर। बरसात के मौसम में सरयू नदी काफी खतरनाक हो जाती है।इस ऐतिहासिक नदी में पानी तो बढ़ता ही है साथ में अप खनिज भी बह कार आता है। ऐसे में दो जून की रोटी के जुगाड़ में मजदूर जान में खेल कर नदी से रेता बजरी निकाल रहे हैं। वैसे सरयू नदी में अवैध खनन करना प्रतिबंधित है। इस अवैध काम में नेपाली मजदूरों के साथ कुछ क्षेत्रीय गरीब मजदूर भी लगे हुए हैं। रेता खनन से मिल रहे आसान रोजगार की वजह से वे अब कमाई का दूसरा जरिया भी नहीं ढ़ूढ़ते ।


दिन-दहाड़े हो रहे अवैध खनन रोकने में पुलिस व प्रशासन ज्यादा दिलचस्पी नहीं लेता। जिस पुल के नीचे खनन हो रहा है,वही पुल से एसपी कार्यालय और डीएम कार्यालय जाने का आम रास्ता है। वहां से अधिकारी व पुलिस आते जाते रहते है।वह देखकर भी अंजान बने रहते है। फिर चाहे सरकार के राजस्व में कितना ही बट्टा क्यों ना लगे या कोई गरीब इस आसान और अवैध तरकीब से पैसे कमाने के चक्कर में डूब क्यों ना मरे।शायद प्रशासन व पुलिस गरीबी व उनकी मजबूरी देख सरयू पर इस अवैध खनन पर मूकदर्शक बनी है।

Leave a Comment!

error: Content is protected !!