अपराधपंजाबब्रेकिंग न्यूजहिमाचल

लव ट्रेंगल में नाबालिग ने रची दोस्त की मौत की साजिश, वीडियो बनाने के बहाने दी मौत

जालंधर। एक लड़की और दो लड़के यानी लव ट्राइंगल। दोनों लड़के आपस में दोस्त थे लेकिन मन ही मन ऐसे दुश्मन कि एक दूसरे की जान का दुश्मन बन गया। आखिर एक ने दूसरे को रास्ते से हटाने के लिए ऐसी साजिश रची किसुनकर आपके भी होश उड़ जाए। पुलिस ने अपने ही दोस्त की हत्या के आरोपी किशोर को गिरफ्तार कर लिया है। उससे पूछताछ में जो कहानी सामने आई है उससे पता चलता है कि तकनीक के झूले पर पींगे बढ़ा रही नई पीढ़ी के दिमाग में कैसे कैसे खूंखाल इरादे पल रहे हैं।

दरअसल जालंधर कैंट लालकुर्ती बाजार में सोमवार शाम को 17 साल के लड़के की हत्या के 24 घंटे के भीतर पुलिस ने मंगलवार को मामले का पर्दाफाश कर दिया। मृतक किशोर का नाम अरमान बताया गया है। जबकि उसकी हत्या में गिरफ्तार किया गया उसका दोस्त भी नाबालिग ही है। यहां रहने वाले अशोक कुमार ने पुलिस को बताया कि उनका पौत्र अरमान छावनी के केवी-4 स्कूल में 12वीं क्लास में पढ़ रहा था।

उनके पिता फ्रांस मूल के एनआरआई थे। घटना के वक्त उसकी मां, अपनी बेटी के साथ हिमाचल प्रदेश गई थीं। इस बीच उनके पौत्र की हत्या कर दी गई।
पुलिस ने इस मामले में एक विस्तृत जांच की और एक किशोर को गिरफ्तार किया जो अरमान का दोस्त है।

पुलिस कमिश्नर गुरप्रीत सिंह भुल्लर ने कहा कि अरमान और उसका आरोपी दोस्त दोनों पहले एक साथ पढ़ रहे थे। एक नाबालिग लड़की के साथ अरमान की दोस्ती थी तो वहीं आरोपी भी लड़की के लिए प्रेम महसूस कर रहा था जिसके परिणामस्वरूप उसे अरमान से ईर्ष्या हो रही थी।

उसी ईर्ष्या के कारण अरमान के दोस्त ने पूरे योजनाबद्ध तरीके से अपराध को अंजाम दिया। आरोपी ने पीड़ित के सिर और चेहरे पर क्रिकेट बैट से हमला किया और उसका गला भी घोंट दिया।

अरमान को मारने से पहले उसके दोस्त ने मनोरंजक वीडियो भी बनाया। इस वीडियो क्लिप के लिए उसने पहले अरमान को कुर्सी पर बिठाया। उसके मुंह बांध और फिर उसके हाथ व पैर बांध दिए। अरमान वीडियो क्लिप बनाए जाने के नाम पर उसकी हत्या के षडयंत्र से नावाकिफ था। जबकि उसका दोस्त वीडियो के बहाने उसकी हत्या को असल में ही अंजाम दे रहा था।

अरमान को अच्छी तरह से बांधने के बाद उसने उसपर क्रिकेट के बैट से हमला बोल दिया। बाद में उसका गला भी दबाया। जालंधर छावनी पुलिस ने अशोक कुमार की शिकायत पर आईपीसी की धारा 302, 34 के तहत मामला दर्ज किया है। उन्होंने कहा कि आरोपी को किशोर न्यायालय में पेश किया जाएगा।

छात्रवृत्ति घोटाले में एक और गया जेल, छात्रों को मिली लाखों की स्कालरशिप वापस संस्थान के खाते में की थी ट्रांसफर

? न्यूज़ व्हाट्सएप ग्रुप Click Now ?

Leave a Comment!

error: Content is protected !!