सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा

पर्वतीय सरकारी सस्ता गल्ला विक्रेता कल्याण समिति की बैठक में गल्ला विक्रेताओं की हड़ताल को एक माह 21 दिन का समय बीत जाने के बावजूद शासन द्वारा मांगों के संदर्भ में कोई कार्रवाई नहीं किये जाने पर कड़ा रोष जाहिर किया गया।

वक्ताओं ने कहा कि शासन द्वारा गल्ला विक्रेताओं की मांगों पर कार्रवाई करने के बजाए राशन प्रणाली को सुचारू करने के बाजए विक्रेताओं को धमकाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सहकारी समितियों के माध्यम से राशन बंटवाये जाने की वह कड़ी निंदा करते हैं।


👉👉  ताजा खबरों के लिए WhatsApp Group को जॉइन करें 👉 Click Now 👈

उन्होंने कहा कि विभाग द्वारा विक्रेताओं को भविष्य में डीलरों के माध्यम से जबरन माल उठाने के लिए बाध्य किया जायेगा तो संगठन कार्यालय व गोदामों में तालाबंदी करने के लिये बाध्य होगा। जिसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी जिला पूर्ति अधिकारी की होगी। बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि जब तक सरकार द्वारा मानदेय नहीं दिया जायेगा तब तक यह हड़ताल जारी रहेगी।

बैठक में जिलाध्यक्ष संजय साह रिक्कू, महामंत्री केसर सिंह खनी, प्रदेश सलाहाकार दिनेश गोयल, प्रदेश अध्यक्ष मनोज वर्मा, प्रदेश संयोजक अमय साह, जिला उपाध्यक्ष नारायण सिंह, जिला उपाध्यक्ष नारायण सिंह, विपिन तिवारी, कोषाध्यक्ष नरेंद्र लाल साह, दिनेश चौहान आदि उपस्थिति थे।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here