ad
उत्तराखंडनैनीताल

नैनीताल न्यूज : ऑनलाइन पढ़ाई में बाधा न बने नेटवर्क की स्पीड — आयुक्त

सांकेतिक फोटो

नैनीताल। कोरोना संक्रमण से विद्यालयों के छात्र-छात्राओं को सुरक्षित रखने के उद्देश्य से विगत मार्च माह से सभी शिक्षण संस्थाएं एवं विद्यालय बन्द हैं। छात्र-छात्राओं की शिक्षा एवं अध्ययन बाधित न हो, इसलिए सरकार के निर्देश पर आनलाइन पढ़ाई की व्यवस्था की गयी है ताकि सभी छात्र-छात्राएं अपने घरों पर रहकर पढ़ाई कर सकें। अध्यापन का कार्य अध्यापकों द्वारा आनलाइन किया जा रहा है। यह बात आयुक्त कुमाऊं मण्डल अरविन्द सिंह ह्यांकी ने समीक्षा बैठक के दौरान कही। उन्होंने कहा कि इस आनलाइन पढ़ाई में कनेक्टिविटी एवं नेटवर्क महत्वपूर्ण है।

अतः दूर संचार से सम्बन्धित सभी विभाग एवं प्रतिष्ठान इस बात को सुनिश्चित करें कि उच्च गुणवत्तायुक्त नेट कनेक्टिविटी अध्ययन के लिए बच्चों को मिल सके। यदि तकनीकि कारणों से कनेक्टिविटी बाधित होती है तो उसका तत्काल निराकरण किया जाये ताकि बच्चों को आनलाइन अध्ययन में रूकावट न हो। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि आनलाइन पढ़ाई के दौरान नेट कनेक्टिविटी कमजोर होने के कारण विद्यार्थियों को टोपिक समझने में अनावश्यक दिक्कतें आती हैं और विद्यार्थी नेटवर्क सर्च करने में लग जाते हैं, जिससे विद्यार्थी का समय बरबाद होता है और वे अध्ययन से वंचित हो जाते हैं तथा उनकी रूचि पढ़ाई में फिर नहीं रह पाती है।

उन्होंने निर्देश दिए कि नेट कनेक्टिविटी वाले क्षेत्रों में सम्बन्धित कम्पनियाॅ हाई स्पीड डाटा उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें ताकि नेट कनेक्टिविटी के लिए बच्चों को इधर-उधर नेटवर्क सर्च न करना पड़े। जिन क्षेत्रों में नेट की उपलब्धता नहीं है, उन क्षेत्रों में कनेक्टिविटी बढ़ाने के लिए तुरन्त कार्यवाही की जाये। उन्होंने मण्डल के सभी जिलाधिकारियों को डिस्ट्रिक्ट टेलीकाॅम कमेटी की बैठकें आयोजित करते हुए संचार कम्पनियों के स्थानीय स्तर के मुद्दों का तुरन्त समाधान करने के निर्देश दिए।

ह्यांकी ने निर्देशित करते हुए कहा कि विभिन्न कारणों से आनलाइन शिक्षा से वंचित बच्चों की शिक्षा को सुचारू करने के लिए शिक्षा विभाग के अधिकारी अन्य वैकल्पिक व्यवस्थाओं पर भी कार्यवाही करना सुनिश्चित करें।
ह्यांकी ने दूर संचार कम्पनियों के प्रतिनिधियों से कहा कि सभी क्षेत्रों में कनेक्टिविटी अच्छी होने से कम्पनियों के व्यापार में वृद्धि होगी, बच्चों को आनलाईन शिक्षा सुगमता से प्राप्त होगी, गुड गवर्नेन्स के साथ ही सामरिक दृष्टि से भी राज्य एवं देश को लाभ होगा। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि नेटवर्क की खराबी से पढ़ाई में बाधा न पहुंचे, जिन क्षेत्रों में नेटवर्क अपग्रेडेशन की आवश्यकता हैं,

उन्हें शीघ्रता से अपग्रेड किया जाये और जिन क्षेत्रों में नेटवर्क स्थापित करने की आवश्यकता है, उन क्षेत्रों में बेस्ट नेटवर्क कम्पनी को चुना जाये। उन्होंने बीएसएनएल सहित सभी कम्पनियों को नियमानुसार व आवश्यकतानुसार टाॅवर शेरिंग करने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी कम्पनियों के प्रतिनिधियों को निर्देशित करते हुए कहा कि मण्डल में जिलेवार जो भी समस्याऐं हैं, उन समस्याओं को जिलेवार लिखित में लिखकर दें ताकि उनका समय से समाधान कराया जा सके। उन्होंने कहा कि सेवा प्रदाता कम्पनियों को मण्डल में कनेक्टिविटी मजबूत करने में प्रशासन द्वारा हर संभव मदद की जायेगी।

बैठक में जिलाधिकारी सविन बंसल ने दूर संचार कम्पनियों के सीएसआर फण्ड, टाॅवर शेरिंग मुद्दे, डिस्ट्रिक्ट टेलीकोम कमेटी आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी। बैठक में निदेशक उच्च शिक्षा डाॅ.कुमकुम रौतेला, उप निदेशक तकनीकि शिक्षा एसके वर्मा, प्रधानाचार्य सुशीला तिवारी मेडिकल काॅलेज डा.सीपी भैसोड़ा, अपर निदेशक शिक्षा मुकुल सती, अपर निदेशक बेसिक शिक्षा आरएल आर्य, मण्डलीय अभियंता बीएसएनएल एलएम तिवारी, जेटीओ भाष्कर, दूर संचार कम्पनियों के प्रतिनिधियों में हेमन्त अरोरा, वीरेन्द्र मौर्य, राजीव कुमार आदि मौजूद थे।

2 Comments

Leave a Comment!

error: Content is protected !!