हल्द्वानी। कोरोना संकट के समय में अन्य बीमारियों के लिए अधिग्रहित किए गए 6 निजी चिकित्सालयों की व्यवस्था बनाने के लिए छह नो​डल अधिकारियों की तैनानती की गई है। हम आपको बता दें कि सुशीला तिवारी चिकित्सालय को कोरोना स्पेशल चिकित्सालय बनाए जाने के बाद बेस अस्पताल में अन्य बीमारियों का इलाज शुरू किया गया है लेकिन यहां भी अत्यधिक गम्भीर मरीजों को जनस्वास्थ्य की सभी सुविधायें देने के लिए शहर के 6 निजी चिकित्सालय जिलाधिकारी द्वारा पहले ही अधिग्रहित किये जा चुके है। निजी चिकित्सालयोें में चिकित्सा सुविधायें देने के लिए जिलाधिकारी बंसल द्वारा बुधवार की देर सायं शिविर कार्यालय में समीक्षा की।
जिलाधिकारी बंसल ने बताया कि अधिग्रहित किये गये सभी 6 चिकित्सालय में नोडल अधिकारी तैनात किये जायेंगे। प्रत्येेक नोडल अधिकारी के साथ एक चिकित्साधिकारी भी रहेेंगा। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी डा. भारती राणा को निर्देश दिये कि वे सभी अधिग्रहित निजी चिकित्सालयों में नोडल अधिकारियों की तैनाती का आदेश तत्काल जारी करें। उन्होंने बताया कि बेस चिकित्सालय से रैफर सभी एपीएल तथा बीपीएल मरीजों को शासकीय दरों पर चिकित्सा सुविधायें दी जायेंगी। उन्होंने कहा कि इन अधिग्रहित अस्पतालों में जो भी सुविधायें स्टाफ व अन्य संसाधन उपलब्ध हैं उसके लिए एक पोर्टल तैयार किया गया है, जिसमेें सभी सूचनायें अपलोड कर दी गई है। उन्होेंने बैठक में उपस्थित सभी नोडल अधिकारियों से कहा कि वह इस बात को सुनिश्चित करेंगे कि बेस से रैफर सभी मरीजों को सम्बन्धित चिकित्सालय में सुविधायें मिल रही है अथवा नहीं। उन्होंने कहा यदि कोई समस्या, व्यवधान आये तो उसकी तत्काल सूचना अपर जिलाधिकारी प्रशासन तथा सिटी मजिस्ट्रेट को दी जाए। उन्होंने कहा कि सभी नोडल अधिकारी बेस अस्पताल, सीएमओ, निजी चिकित्सालय प्रबन्धन, प्रशासनिक अधिकारियों, मरीजों व उनके तीमारदारों के साथ ही बेस चिकित्सालय की कन्सलटैंट डा. विनीता साह से संवाद बनाये रखेंगे। उन्होंने कहा कि प्रशासन का उद्देश्य है कि संक्रमण काल में रैफर होने वाले मरीजों को उचित स्वास्थ्य सुविधायें मिलें तथा उनका जीवन बचाया जा सके।
बंसल ने अधिग्रहित किये गये चिकित्सालयों के स्वामियों से कहा है कि वे संक्रमण के इस काल में सेवाभाव से कार्य करें तथा रैफर होकर जो मरीज उनके अस्पताल मे आयें उन्हे तत्काल स्वास्थ्य सेवायें उपलब्ध कराते हुये अपने नैतिक दायित्योें का निर्वहन करें।
गौरतलब है कि प्रशासन द्वारा रैफर मरीजों के ईलाज के लिए महानगर के बृजलाल हास्पिटल, कृष्णा हास्पिटल,नीलकण्ठ हास्पिटल, विवेकानन्द हास्पिटल, साई हास्पिटल तथा सेन्टल हास्पिटल के निजी हास्पिटलों का अधिग्रहण किया गया है।
बैठक वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार मीणा, अपर जिलाधिकारी कैलाश टोलिया,एसएस जंगपांगी,सिटी मजिस्टेट प्रत्यूष सिह, मुख्य कृषि अधिकारी डा. धनपत कुमार, जिला कार्यक्रम अधिकारी अनुलेखा बिष्ट, उपनिदेशक रेशम अरविन्द ललौरिया, सहायक परियोजना निदेशक संगीता आर्या,प्रमुख चिकित्साधीक्षक एसटीएच डा. अरूण जोशी, जिला सेवायोजन अधिकारी नारायण सिह दरम्वाल,एसीएमओ डा. रश्मि पंत, श्रम प्रर्वतन अधिकारी दीपक कुमार तथा डा. बलवीर आदि मौजूद थे।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here