demo pic

⏩ अपहरण का यह आरोपी छह साल बाद चढ़ा पुलिस के हत्थे

सीएनई रिपोर्टर

बिहार में एक ऐसा बदमाश व धोखेबाज पकड़ा गया है। जिसका कारनामा चौंकाने वाला है। कारनामा ये है कि वह कुछ सालों से खुद को कुंवारा बताते चला गया और सीधी—सरल लड़कियों को विश्वास में लेकर शादियां करते चला गया। उसने एक, दो, तीन या चार नहीं बल्कि एक दर्जन लड़कियों से शादी की है। एक नाबालिग लड़की के अपहरण के मामले में वह आरोपी है, लेकिन सालों से पुलिस की नजरों से बचता आ रहा था, लेकिन अब बिहार पुलिस के हत्थे चढ़ गया। इसके पुलिस गिरफ्त में आने के बाद ही यह खुलासा हुआ।


यह दगाबाज व शातिर व्यक्ति बिहार के कोचाधामन थाना क्षेत्र के अनारकली गांव का निवासी शमशाद उफ् मनोवर है। जिसके खिलाफ एक गांव की नाबालिग लड़की का अपहरण का मामला दर्ज है। यह अभियोग दिसंबर 2015 में दर्ज हुआ था। इसके बाद पुलिस ने नाबालिग लड़की को किशनगंज से बरामद कर लिया था, लेकिन आरोपी शमशाद फरार हो गया। तब से पुलिस को इसकी तलाश थी। पुलिस की लगातार तफ्तीश व तलाश के चलते इस शातिर आरोपी को बिहार के पूर्णिया थाने की पुलिस ने दबोचने में सफलता प्राप्त कर ली। यह आरोपी बहादुरगंज थाना क्षेत्र के कोइडांगी गांव में हत्थे चढ़ा। जो करीब 06 साल बाद गिरफ्तार हो सका।

जब पुलिस ने उससे पूछताछ की, तो चौंका देने वाली बातें सामने आई। उसने खुलासा किया कि वह एक दर्जन शादियां कर चुका है। वह हर बार किसी भोली भाली लड़की को अपने प्रेमजाल में फंसा लेता और खुद को कुंवारा बताकर शादी कर लेता। इस तरह उसने 12 शादियां कर ली। शमशाद की 07 बीवियों ने पुलिस को बताया शमशाद ने उन्हें धोखे में रखकर फंसाया और उसने उन्हें झांसा देकर प्रेम जाल में फंसाया और शादी कर ली। खास बात ये है कि इन सातों में से किसी को यह पता नहीं था ​कि शमशाद पहले से शादीशुदा है। इन सात बीवियों के बयानों के आधार पर पुलिस ने शमशाद के खिलाफ अपहरण, धोखाधड़ी व अन्य धाराओं में मुकदमा कायम कर लिया है।

चौबटिया में एसडीआरएफ ने दिया आपदा बचाव प्रशिक्षण, 250 एनसीसी कैडेट शामिल

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here