हल्द्वानी । रेलवे तथा रोडवेज के जरिये उत्तराखण्डी प्रवासियों के आगमन की संख्या में दिन-प्रतिदिन बढोत्तरी होने लगी है। जनपद के अलावा कुमाऊं के पर्वतीय जनपदों के यात्री भी कुमाऊं के प्रवेश द्वार हल्द्वानी से होकर अपने गन्तव्यों को जा रहे है। यह बात जिलाधिकारी सविन बंसल द्वारा देर रात शिविर कार्यालय में आयोजित अधिकारियों की बैठक में कही। उन्होंने कहा कि देश के अनेक प्रान्तों से ट्रेनों की आने की संख्या बढने की सम्भावना है। इसके लिए रेलवे मंत्रालय द्वारा ट्रेनों शिड्यूल जारी किये जा रहे है। उत्तराखण्ड में आने वाली ट्रेनों के स्टेशन काठगोदाम, लालकुआं तथा गढवाल के लिए हरिद्वार निर्धारित किये गये है। इन ट्रेनों से बढी संख्या में यात्रियों को भेजा जायेगा।

बंसल ने कहा कि ट्रेनों से अन्य प्रान्तों से लोग लगातार आ रहे है अब ट्रेनों से लालकुआं व काठगोदाम आने वाले पिथौरागढ, चम्पावत व उधमसिह नगर जनपदों के यात्रियो को सीधे रूद्रपुर भेजा जायेगा, जहां से जिला प्रशासन उधमसिह नगर द्वारा उनको उनके गन्तव्य तक पहुचाया जायेगा। बंसल ने अधिकारियो से कहा कि प्रदेश सरकार की पहल पर देश के अन्य प्रान्तों से लाकडाउन में फंसे प्रवासी उत्तराखण्ड वासियों के लगातार आगमन होने से हमारी जिम्मेंदारियां बढ गई है। उन्होंने कहा कि जो उत्तराखण्ड बाहर से कुमाऊं में आ रहे है उनकी सहायता करना हमारा कर्तव्य है। उन्होंने कहा कि देर रात को पहुचने वाले प्रवासियों को सम्बन्धित रिलीफ कैम्पों उनको रोकते हुये उनके रहने खाने, पेयजल की उचित व्यवस्था की जाए।

उन्होंने कहा कि सभी यात्रियों का डाटाबेस तैयार करते हुये उनकी थर्मल स्कैनिंग तथा उनकी परीक्षण भी किया जाए। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी पूरी तत्परता एवं दोतरफा संवाद कायम करते हुये सौपी गई व्यवस्थाओं को सुनिश्चित करेंगे। देर रात आने वाले यात्रियों के लिए रात्रि में भी खाने की व्यवस्था बनाई जाए। उन्होंने कहा कि शहर स्टेडियम तथा गौलापार स्टेडियम में चैबीस घंटे भोजन की व्यवस्था के लिए स्वयं सहायता समूहों तथा इन्दिरा अम्मा कैन्टीन संचालकों को तैनात किया जाए ताकि चौबीस घंटे यात्रियों के लिए भोजन उपलब्ध रहे। उन्होंने कहा कि जो भी सेक्टर मजिस्टेट लगाये गये हैं उनको दायित्यों के लिए ब्रिफिंग कर दी जाए किसी भी समस्या के तत्काल निराकरण के लिए सेक्टर मजिस्टेट अपने नोडल अधिकारी कन्ट्रोल रूम से सम्पर्क करेंगे।




उन्होंने कहा कि संवादहीनता की स्थिति से अव्यवस्था होती है, इससे जहां यात्रियों को परेशानी होती है वही गलत संदेश भी जाता है, सभी अधिकारी पूरी टीम भावना के साथ कार्य करें। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार मीणा ने कहा कि हाथ बटांने के लिए तथा व्यवस्था को बनाये जाने के लिए सेक्टर पुलिस आफिसरों की तैनाती की जा रही है। उन्होंने कहा कि आने वाले यात्रियो के बीच में अनिवार्य रूप से सोशल डिस्टैसिंग कराई जाए।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी विनीत कुमार, अपर जिलाधिकारी कैलाश टोलिया, एसएस जंगपांगी, अधीक्षण अभियन्ता लोनिवि रणजीत सिह रावत, अधीक्षण अभियन्ता पेयजल निगम एसके पंत, अधिशासी अभियन्ता लोनिवि हिम्मत सिह रावत, अधिशासी अभियन्ता पेयजल निगम अरविन्द कुमार कटारिया, सिटी मजिस्टेट प्रत्यूष सिह, अपर पुलिस अधीक्षक अमित श्रीवास्तव, उपजिलाधिकारी विवेक राय, एपीडी संगीता आर्य, खाद्य सुरक्षा अधिकारी विरेन्द्र सिह आदि उपस्थित थे।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here