KalamkaarNationalकलमकार

अब दक्षिण भारत में छा रहा हिंदी भाषा का गौरव, यहां हिंदी में बोलना सम्मान की बात

प्रतिभागियों को पुरस्कृत करते मनोज कुमार चर्तुवेदी
266views
हिंदी भाषी कार्यक्रम में सम्मलित लोग

चिकमंगलूर/कर्नाटक। निश्चित रूप से हिंदी का गौरव दिन प्रतिदिन अपनी पहचान के साथ अपनी लोकप्रियता की जादुई आभा को दक्षिणी भारत में बिखेर रहा है। अब लोग यहां हिंदी बोलना अपने सम्मान की बात समक्षते हैं। हिंदी से प्रेम करते हैं। हिंदी में वार्तालाप करते हैं। हिंदी से संबंधित कार्यकम निश्चित रूप से कर्नाटक में सद्भावना की एक नई मिशाल का झंडा फहरा रहा है। कर्नाटक के जिला चिकमंगलूर के लोक भविष्य निधि कार्यालय में हिंदी से संबंधित एक कार्यक्रम के दौरान लोगों में अतिरेक उत्साह का माहौल बना हुआ था। यह बात कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत करने पहुंचे साहित्यकार व आदर्श शिक्षक मनोज कुमार चर्तुवेदी ने कही। कार्यक्रम में भागीदारी करने के बाद उन्होंने बताया कि यहां पर हिंदी के अनेक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए। जिसमें उनके द्वारा वक्तव्य एवं कविता पाठ किया गया। हिंदी भाषा की चर्चा पर अधिकारियों और कर्मचारियों ने खुलकर अपने सकारात्मक विचार रखे। इस कार्यक्रम ने उत्तर और दक्षिण के भेद को मिटाते हुए प्रेम की गंगा बहा दिया। अंत में उन्होंने बतौर मुख्य अतिथि पुरस्कार वितरण किये और फिर कार्यक्रम की समाप्ति की घोषणा की गई।

Leave a Reply