हल्द्वानी में झोलाछाप डॉक्टर के इंजेक्शन लगाने के बाद गर्भवती महिला की मौत
सांकेतिक फोटो

हल्द्वानी अपडेट। यहां छड़ायल चौराहे पर झोलाछाप डॉक्टर के इंजेक्शन लगाते ही गर्भवती महिला की तबीयत बिगड़ गई। स्वजन उसे इलाज के लिए एसटीएच लेकर पहुंचे। जहां डॉक्टर ने महिला को मृत घोषित कर दिया। मां के साथ गर्भ में पल रहे सात माह के शिशु की भी मौत हो गई। स्वजनों ने झोलाछाप डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाया है।

हल्द्वानी में झोलाछाप डॉक्टर, गर्भवती महिला की मौत

मिली जानकारी के मुताबिक, मूलरूप से थाना अलीगंज, बरेली व हाल जीना कॉलोनी, छड़ायल निवासी महिपाल साप्ताहिक बाजार में सब्जी की दुकान लगाता है। महिपाल ने पुलिस को बताया कि उसकी 24 वर्षीय पत्नी अनिता सात माह की गर्भवती थी। मंगलवार की शाम उसे सांस लेने में परेशानी हुई। तो वह छड़ायल चौराहे पर एक बंगाली डॉक्टर को दिखाने गया। आरोप है कि डॉक्टर ने बिना बीपी नापे इंजेक्शन लगाकर घर भेज दिया। घर पहुंचते ही पत्नी की तबीयत और बिगड़ने लगी। आनन-फानन में उसे सुशीला तिवारी अस्पताल लाया गया। यहां पहुंचने पर उसकी मौत हो गई।

बेटे के सिर से उठा मां का साया

अनिता की मौत से उसके तीन साल के बेटे के सिर से मां का साया उठ गया है। अबोध बच्चा मां की मौत से अंजान बना रहा।


झोलाछाप डॉक्टर पर होगी कार्रवाई

मुखानी थानाध्यक्ष दीपक बिष्ट ने बताया कि गर्भवती के स्वजनों की ओर से तहरीर नहीं मिली है। तहरीर के बाद जांच कर आगे की कार्रवाई की जाएगी। बुधवार को नायब तहसीलदार हरीश चंद्र की मौजूदगी में पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम किया गया।

थानाध्यक्ष दीपक बिष्ट का कहना है कि तहरीर मिलने के बाद झोलाछाप डॉक्टर पर शिकंजा कसा जाएगा। मामले में उसकी संलिप्ता मिली तो मुकदमा दर्ज किया जाएगा। उन्होंने लोगों से अपील की है कि झोलाछाप डॉक्टर से इलाज न कराएं।”

बागेश्वर में सरयू में नहाने उतरा किशोर डूबा, मौत

हल्द्वानी : वन विभाग में वन दरोगाओ के बंपर तबादले, लिस्ट में देखें किसे कहा भेजा

सूचना : 10 घंटे के लिए बंद रहेगा हल्द्वानी-रुद्रपुर मार्ग, वाया लालकुआं जाएंगे वाहन

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here