रूद्रप्रयाग। यहां विकासखंड ऊखीमठ के एक गांव से शर्मसार कर देने वाला समाचार आया है, जहां दो कलियुगी बेटों ने अपनी सैन्य विधवा वृद्ध मां के साथ उसकी पेंशन की रकम पाने के लिए बुरी तरह मारपीट कर उसे घर से निकाल दिया। इस कुकृत्य में वृद्धा की दो बहुओं ने भी पूरा सहयोग दिया। वृद्धा ने डीएम की चौखट पर आकर मदद की गुहार लगाई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार ऊखीमठ विकासखंड के क्यूंजा घाटी के कंडारा गांव की विनीता देवी को उसके पुत्र रवींद्र लाल व भाष्कर लाल ने बुरी तरह पीटा है।जिससे उसका एक हाथ टूट गया है और सिर पर भी टांके लगे हैं। वृद्धा का तीसरा बेटा बीच-बचाव के लिए आया तो उसके साथ भी दो भाईयों ने मारपीट की। जिलाधिकारी को सौंपे शिकायती पत्र में पीड़ित महिला का कहना है उसके पति सेना में थे, जिनकी मौत के बाद उन्हें पेंशन मिल रही है। महिला के तीन पुत्र हैं, जिसमें दो की शादी हो गई है। दोनों शादीशुदा बेटों व पुत्रवधुओं की नजर पेंशन पर है और आए दिन उससे रुपये मांगते रहते हैं। रुपये नहीं देने पर गाली-गलौज के साथ मारपीट करते हैं। महिला ने बताया कि दो दिन पूर्व भी रुपये नहीं देने पर उन्होंने बुरी तरह से पीटा। इधर मामले को लेकर डीएम ने पुलिस को तत्काल कार्रवाई के सख्त निर्देश दिये हैं।

https://www.creativenewsexpress.com/corona-patients-number-75-in-uttarakhand-know-district-wise-figures/
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here