उत्तराखंडनैनीताल

हल्द्वानी राजनीति : आक्सीजन के बहाने लोगों की राजनीतिक नब्ज पकड़ने की रणनीति

तेजपाल नेगी

हल्द्वानी। इस बार विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबले बनाने की कोशिश कर रही आम आदमी पार्टी ने लोगों के शरीर में आक्सीजन मापने के बहाने लोगों नब्ज पकड़ने का पैतरा अपनाया है। महामारी के इस संक्रमण काल में आप की यह रणनीति कारगर भी हो सकती है। इससे पहले भाजपा ने भी घर लौट रहे प्रवासियों का रेलवे स्टेशनों पर बैनर लहरा लहरा कर स्वागत किया था लेकिन भाजपा के लिए बुरी खबर यह है कि इनमें लगभग 30 प्रतिशत प्रवासी दोबारा अपने कर्मक्षेत्र को वापसी कर गए हैं और जो बचे भी है उनके मन को बदलने के लिए अभी बहुत कुछ जमीन पर करना बाकी है।

रही बात कांग्रेस की तो वह अभी परंपरागत तरीके से ही लोगों को रिझाने की कोशिश में लगी है। आक्स मित्र जैसी सोच पैदा न कर पाने के कारण कांग्रेस पहले भी चुनावों में नकारात्मक नतीजे देख चुकी है। आम आदमी पार्टी उत्तराखंड के लिए बिल्कुल नई पार्टी नहीं है। इससे पहले लोकसभा चुनाव में आम आदमी के प्रत्याशी यहां की रणभूमि में अपना दमखम दिखा भी चुके हैं, वह तब की बात थी कि आप के पास सत्ता चलाने का कोई अनुभव प्रमाण पत्र नहीं था, लेकिन अब उसके पास देश का दिल यानी दिल्ली में शासन करने और वहां कई नई चीजें करने का अनुभव है।

ऐसे में लोग आप को गंभीरता से लेने लगे हैं। हर रोज कहीं न कहीं से नेताओं व आम लोगों के पार्टी से जुड़ने की खबरें भी आ रही हैं। ऐेसे में आक्स मित्र पार्टी की नई खोज है। वह लोगों में आक्सीजन का स्तर नापते हुए उनके राजनैतिक स्थिरता के पैमानो भी थाह लेना चाहती है। नतीजा क्या रहेगा यह तो आने वाला समय ही बताएगा लेकिन आप के कार्यकर्ताओं की नई रणनीति ने चर्चाएं बटोरनी जरूर शुरू कर दी है।

Leave a Comment!

error: Content is protected !!