अल्मोड़ाउत्तराखंडराजनीति

अल्मोड़ा न्यूज : उक्रांद के केंद्रीय नेता करेंगे जनपदों का दौरा, संगठनात्मक ढांचे को मजबूत बनाने का निर्णय

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा
उत्तराखण्ड क्रांति दल के संगठनात्मक ढांचे को सुदृढ़ बनाने के लिए केंद्रीय नेताओं द्वारा 20 नवंबर से 30 नवंबर के बीच विभिन्न जनपदों का भ्रमण कर जन सभाओं का आयोजन किया जायेगा। इस हेतु व्यापक कार्य योजना तैयार की जा रही है।
उक्रांद की यहां हुई बैठक में सदस्यता अभियान में तेजी लाने तथा न्याय पंचायत, बूथ स्तर तथा ग्राम स्तर पर संगठन की इकाईयों का गठन करने का निर्णय लिया गया। जिला स्तर पर दल की गतिविधियों में तेजी लाने के लिए ब्लॉक अध्यक्षों से विचार—विमर्श के बाद न्याय पंचायत स्तरों पर शीघ्र दल की बैठकों का आयोजन करने का भी निर्णय लिया गया। तय हुआ कि सभी ब्लॉक अध्यक्ष यथाशीघ्र बैठकों की तिथियां जिलाध्यक्ष को प्रेषित करेंगे। वक्ताओं ने बताया कि दल की नीतियों को जन—जन तक पहुंचाने के लिए दल के केन्द्रीय नेताओं का 20 नवम्बर से 30 नवम्बर के बीच केन्द्रीय पदाधिकारियों द्वारा जनपद मे भ्रमण कर दल की नीतियों को स्थान—स्थान पर जनसभाएं करके जनता तक पहुंचाया जायेगा। पदाधिकारियों ने कार्यकर्ताओं को निर्देशित किया कि सभी ब्लॉक अध्यक्ष यथाशीघ्र जनसभा के स्थानों व तिथियों से जिलाध्यक्ष को अवगत करा दें। पारित प्रस्ताव में उत्तराखण्ड राज्य आंदोलनकारियों को न्यूनतम 15000 रुपये मासिक पेंशन दिये जाने की मांग करते हुए राज्य आंदोलनकारियों को दी जा रही सुविधाओं की विसंगतियों को दूर करने की भी मांग की गयी। इस सम्बन्ध में 31 अक्टूबर को गांधी पार्क मे राज्य आंदोलनकारियों की मांगों के लिए धरना दिये जाने का भी निर्णय लिया गया। जनपद की पेयजल समस्या के समाधान हेतु पिण्डर नदी से गुरुत्व पर आधारित पेयजल योजना बनाये जाने की मांग करने के साथ—साथ अल्मोड़ा जनपद में पेयजल के बिलों के लिए बनाये गये 9 स्लेबों के स्थान पर तीन स्लैब बनाये जाने की मांग भी की गयी। बैठक में जनपद की विभिन्न समस्याओं के लिए आंदोलनात्मक कार्रवाईयों के लिए जिलाध्यक्ष को अधिकृत करते हुए निर्णय लिया गया कि वे तात्कालिक रूप से आने वाली समस्याओं के समाधान हेतु शासन को ज्ञापन दें अथवा धरना—प्रदर्शनों का समय—समय पर आयोजन करते रहें। बैठक में जिलाध्यक्ष शिवराज बनौला, केन्द्रीय उपाध्यक्ष ब्रहमानंद डालाकोटी, केन्द्रीय संगठन मंत्री रणजीत सिंह गड़ाकोटी, गिरीश साह, गोपाल सिंह मेहता, पूरन सिंह बिष्ट, रविन्द्र सिंह बिष्ट, विक्रम सिंह बिष्ट, प्रेमबल्लभ काण्डपाल, लछम सिंह, कैलाश राम, अर्जुन सिंह नैनवाल, गोपाल सिंह बनौला, हर्ष कनवाल, भारतभूषण पाण्डेय, गणेश सोतियाल, दयाकृष्ण बिष्ट, रोहित सिंह, ओमी बिष्ट, चंद्रशेखर जोशी सहित अनेक कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Leave a Comment!

error: Content is protected !!