अपराधउत्तराखंडनैनीतालबागेश्वरब्रेकिंग न्यूज

हल्द्वानी ब्रेकिंग : कमरे में लटका था निजी हास्पिटल के रिसप्निस्ट का शव, सुसाइड में लिखा- बेरोजगारी से तंग आकर कर रहा हूं सुसाइड, पुलिस उलझी

हल्द्वानी। बागेश्वर जिले के कपकोट तहसील के दुलम गांव निवासी एक युवक ने हल्द्वानी के आवास विकास क्षेत्र के एक निजी चिकित्सालय के हॉस्टल के कमरे में फांसी पर लटकर आत्महत्या कर ली। उसका शव गुरुवार को कमरे की छत पर लगे पंखे के कुंडे से लटका मिला था लेकिन उससे जुड़े तथ्य अब सामने आ रहे हैं। इस युवक के शव के पास ही उसका लिखा हुआ सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है जिसमें कहा गया है कि वह बेरोजगारी से तंग आकर अपनी जान दे रहा है। इसमें किसी का कोई दोष नहीं है। उसने सुसाइड नोट में अपने शव को पोस्टमार्टम व पुलिस कार्रवाई न करने के लिए भी लिखा है। सुसाइड नोट उसने मम्मी पापा के नाम लिखा है और आत्महत्या करने पर उनसे माफी भी मांगी है।
पुलिस यह नहीं समझ पा रही है कि जब वह तीन साल से निजी चिकित्सालय में रिसप्शनिस्ट की नौकरी कर रहा था तो उसने स्वयं को बेरोजगार क्यों लिखा। जिस कमरे में शव मिला है उसी कमरे में रायल स्टैग शराब की आधी बोतल भी बरामद हुई साथ ही सिगरेट का पैकेट भी मिला। उसे मनोज कुमार आर्य नामक इस 23 वर्षीय युवक ने आज से तीन साल पहले निजी चिकित्सालय में रिसप्शनिस्ट की नौकरी ज्वाइन की थी। गुरुवार की सुबह जब उसके साथी सलमान ने उसे विवेकानंद स्कूल के पास स्थित निजी चिकित्सालय के हास्टल के कमरे से ड्यूटी पर चलने के लिए बुलाया तो उसने दरवाजा नहीं खोला। शक होने पर सलमान ने खिड़की से झांक कर देखा तो अंदर मनोज का शव पंखे के कुंडे से लटका हुआ था इसके बाद सलमान ने पुलिस को मामले की जानकारी दी। इस सूचना पर भोटिया पड़ाव पुलिस मौके पर पहुंची और शव को नीचे उतार कर उसका पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया।
पुलिस के अनुसार मनोज के कमरे से एक सुसाइड नोट बरामद किया गया है, जिसमें उसने अपने मम्मी पापा से सुसाइड करने के लिए माफी मांगते हुए लिखा है कि वह बेरोजगारी से परेशान हाकर यह कदम उठा रहा है। उसने यह भी इच्छा जताई है कि उसका शव का पोस्टमार्टम व पुलिस कार्रवाई न कराई जाए। अब पुलिस यह नहीं समझ पा रही है कि जब वह नौकरी कर रहा था तो बेरोजगारी वाली बात उसने क्यों लिखी है। मनोज के कमरे से पुलिस को शराब की एक आधी बोतल, सिगरेट का पैकेट और उसका मोबाइल मिला है। पुलिस मोबाइल की जांच कर रही है।
खैर पुलिस को उसके साथियों ने एक और बात बताई है कि फांसी पर लटकने से एक दिन पहल वह किसी महिला से फोन पर बात कर रहा था और बार—बार उसे पागल पागल कह रहा था। पुलिस ने इस नए एंगल से भी मोबाइल खंगालना शुरू किया है।

Leave a Comment!

error: Content is protected !!