• जिले के द्वाराहाट ब्लाक के गांव की आश्चर्यजनक घटना

सीएनई रिपोर्टर, अल्मोड़ा
द्वाराहाट के एक गांव में आश्चर्यचकित करने वाली घटना प्रकाश में आई। जिसमें पुलिस, वन व राजस्व विभाग के साथ ही ग्रामीणों की बड़ी फजीहत हुई। गांव की एक वृद्धा अचानक गुम हो गई, तो सभी ने समझ लिया कि वृद्धा को बाघ उठा ले गया। ग्रामीणों ने ढूंढखोज शुरू करते हुए आननफानन में इसकी सूचना पुलिस व प्रशासन को दी। रात पुलिस, वन विभाग व राजस्व विभाग की टीमें मौके पर पहुंची और पूरी रात सर्च अभियान चला, लेकिन वृद्धा का कहीं पता नहीं चला, अगले दिन की खोजबीन में वृद्धा दूर एक पुलिया ने नीचे बैठी मिली। सभी ने राहत की सांस तो ली, मगर फजीहत ने ‘खोदा पहाड़ निकली चुहिया’ वाली कहावत चरितार्थ कर डाली।

हुआ यूं कि द्वाराहाट थानांतर्गत गत 30 अगस्त की रात करीब 09ः30 बजे किसी व्यक्ति ने डायल नंबर 112 में पुलिस को सूचना दी कि राजस्व ग्राम क्षेत्र छब्बीसा निवासी 70 वर्षीया वृद्धा शान्ति देवी को बाघ उठाकर ले गया है। इस सूचना पर थानाध्यक्ष द्वाराहाट राजेन्द्र सिहं बिष्ट ने त्वरित कार्यवाही करते हुए थाने से उप निरीक्षक राजेन्द्र कुमार के नेतृत्व में पुलिस टीम को गठित कर मय आवश्यक उपकरण के मौके पर रवाना की। सूचना पर पुलिस टीम के साथ ही द्वाराहाट व रानीखेत वन रेंज से वन विभाग की टीमें मौके और राजस्व विभाग की टीम मौके पर पहुंची। संयुक्त रुप से रात क्षेत्र में सर्च अभियान चलाया। सघन काम्बिंग की गयी, किन्तु देर रात तक भी वृद्ध महिला शान्ति देवी का कहीं कुछ पता नही चल पाया।




इसके बाद दूसरे दिन फिर काफी खोजबीन हुई और अंततः वृ़द्धा अगले दिन ग्राम छब्बीसा से लगभग 03 किलोमीटर दूर दोसाद गधेरे पुल के नीचे बैठी मिली। गुमशुदा शान्ति देवी को सकुशल लाया गया और उनके पुत्र दीपक पाठक एवं अन्य परिजनों के सुपुर्द किया गया। पता चला कि शांति देवी अक्सर घर के आसपास लकड़ी बीनने जाया करती है, ताकि खाना बनाने के काम आ सकें। इसी तरह उस दिन भी गई, लेकिन कुछ दूर निकल गई। लेकिन शाम देर होने और कमजोर नजर के चलते वह राह भटक गई और उसके समझ कुछ नहीं आया, तो वहीं बैठ गई। यह वाकया क्षेत्र में चर्चा का विषय रहा।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here