बागेश्वर। जिले की एसपी रचिता जुयाल ने कहा है कहा है कि पुलिस जनता को कोरोना महामारी से बचाने के लिए भरसक प्रयत्न कर रही है। लेकिन जो जो लोग लाक डाउन के नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं उनके साथ सख्ती से पेश आना पुलिस की मजबूरी है। उन्होंने बताया कि लाक डाउन पीरियड में अब तक मोटर व्हीकल एक्ट में 915 लोगों के चालान काटे गए, जबकि बिना मास्क के सड़कों में घूम कर अपनी व दूसरों के जीवन के लिए असुरक्षा पैदा करने वाले 670 लोगों पर कार्रवाई की गई।
उन्होंने जनता से अपील की है कि वे अनावश्यक घरों से बाहर न निकलें। नियमों का पालन न करने पर पुलिस द्वारा सख्त कानूनी कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने बताया कि अब तक बाहरी क्षेत्रों से 7000 लोगों के अपने घर आने की सूची पुलिस को प्राप्त हुई है।
यहां आयोजित पत्रकार वार्ता में एसपी ने कहा कि हम ग्रीन जोन में हैं और सुरक्षित हैं। जनता को जहां भी उन्हें पुलिस की जरुरत महसूस हो रही है,सिर्फ एक काॅल पर पुलिस उनके दरवाजे पर पहुंच रही है।
एसपी रचिता जुयाल ने कहा कि पूरे जिले के पुलिसकर्मी कोरोना से लड़ने के लिए खुद को भी सुरक्षित रख रहे हैं। एसपी ने कहा कि बागेश्वर जिला प्रशासन के साथ पुलिस टीम कदम से कदम मिलाकर इस महामारी का मुकाबला कर रही है। उन्होंने कहा कि जिले की सीमाओं पर पुलिस के जवान चौबीसों घंटे तैनात हैं। यहां आने वाले हर व्यक्ति की जांच थर्मल डिटेक्टर से की जा रही है।
बताया कि अब तक नियमों का उल्लंघन करने पर पुलिस एक्ट के तहत 517 व एमबी एक्ट में 915 चालान हुए। जबकि मास्क न पहनने पर 670 तथा सोशल डिस्टेंस का पालन न कराने पर 60 दुकानदारों पर कार्रवाई की है। इसके होम क्वारंटाइन का उल्लंघन करने व अवैध रूप से जनपद में प्रवेश करने वाले 127 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। बताया कि ग्रीन जोन से ग्रीन जोन पर जाने के लिए आसानी से प्रशासन पास दे रहा है। सर्विलांस से बाहर से आने वालों पर नजर रखी जा रही है। अब तक सात हजार लोगों के बाहर से आने की सूची प्राप्त हुई है।


- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here