अल्मोड़ा। रानीखेत पुलिस इन दिनों एक ऐसे सेवा कार्य में जुटी है, जिसने पुलिस की छवि को एकदम अलग अंदाज में साबित किया है। दरअसल, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रहलाद नारायण द्वारा मानवता का धर्म निभाने हेतु दी गयी प्रेरणा से अल्मोड़ा पुलिस का हर जवान किसी न किसी नेक कार्य में जुटा है, किंतु रानीखेत पुलिस एक जवान ने तो कमाल ही कर दिखलाया है। इनकी जादू की झप्पी ने एक चमत्कार कर दिखलाया है।
हुआ यूं कि लाॅकडाउन के चलते रानीखेत क्षेत्र में तीन विक्षिप्त जिनके लिए भोजन का संकट देख प्रभारी निरीक्षक कोतवाली रानीखेत हरेन्द्र चौधरी द्वारा थाना में नियुक्त कर्मियों को प्रत्येक दिन पुलिस मैस से विक्षिप्तों को दोनों समय खाना खिलाने का जिम्मा देते हुए कहा कि कोई भी भूखा न सोने पाए। आदेश के अनुपालन में पुलिस जवानों द्वारा प्रत्येक दिन विक्षिप्तों का खाना दिया जाने लगा, परन्तु कानि 211 नापु दिलीप कुमार द्वारा स्वेच्छा से इनको खाना खिलाने की पूर्ण जिम्मेदारी ली गयी।

विक्षिप्तों अद्भुत सेवा और ‘विजय कोविड’ का जन्म
दिलीप कुमार द्वारा लाॅकडाउन के शुरूवात 24 मार्च से ड्यूटी के अतिरिक्त तीनों विक्षिप्तों सुबह—शाम खाना खिलाया जा रहा है। तीनों में से एक विक्षिप्त जो कि करीब 15 साल से रानीखेत में गांधी चौक में एक ही स्थान पर रहता है, जो कभी भीख नहीं मांगता तथा जो कुछ भी कोई दे दे खा लेता है। ऐसे में रोज खाना खिलाते—खिलाते एक दिन पुलिस के इस जवान की नजर उसके पैर पर पड़ी। देखा पैर में चोट के कारण पैर काफी खराब हो चुका था। 29 मार्च को 108 के माध्यम से उसका ईलाज कराया गया तथा हर दो दिन बाद उसके पैर की ड्रैसिंग हेतु कानि दिलीप कुमार द्वारा अपनी निजी वाहन से उसे अस्पताल ले जाकर ईलाज कराया गया। वर्तमान में काफी सुधार हो गया है।

प्यार—दुलार से विक्षिप्त की हालत में आ रहा सुधार
कानि दिलीप द्वारा 4-5 दिन में इसे नहला धुला कर कपड़े चैन्ज कराया जाता है। यह बोल नहीं पाता पर सारी बातें समझ लेता है, धीरे-धीरे इसमें काफी सुधार आ गया है। रानीखेत पुलिस ने इसे नाम भी दिया विजय कोविड। 24 मार्च से अब तक प्रत्येक दिन विजय कोविड की देख-भाल (बाल कटवाना, पेस्ट कराना, नहलाना, नाखून काटना आदि) रानीखेत पुलिस के इस जवान द्वारा किया जा रहा है। जिसकी स्थानीय लोगों द्वारा काफी प्रसंशा की जा रही है तथा स्थानीय लोगों द्वारा भी अब विक्षिप्तों की देख-भाल की जाने लगी है।


Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here