AlmoraEducationUttarakhand

रिचर्स मैथडलॉजी कोर्स के दूसरे दिन शोध प्रविधियों के सिखाये गुर , शिक्षाविदों ने ह्यूमन इन्क्वायरी मेथड पर की चर्चा

82views

अल्मोड़ा। यूजीसी मानव संसाधन विकास संस्थान में संचालित रिसर्च मैथडलॉजी कोर्स के दूसरे दिन अम्बेडकर विश्विद्यालय लखनऊ के प्रो. अरविंद कुमार झा डीन, स्कूल ऑफ एजुकेशन ने प्रतिभागियों को मानवीकृत पृच्छा विधि के नियमों की जानकादी दी। जिसमें उन्होंने विश्लेषण एवं संशलेषण विधि के रूप में इसकी वृहद व्याख्या की गयी। उनके द्वारा जीवन वृतांतों को सही ढ़ंग से प्रस्तुत करने पर जोर दिया गया। शकुंतला मिश्रा, राष्ट्रीय पुर्नवास विश्वविद्यालय लखनऊ के समाजशासत्र, सामाजिक विज्ञान तथा सामाजिक कार्य विभाग विभागध्यक्ष प्रो. हिमांशु झा के द्वारा व्यक्तिवृत्त विधि एवं नृजाति वर्णन के महत्व को बताया। सजातीय समूहों के अध्ययन में अवलोकन, सत्यापन, प्रयोग एवं वर्गीकरण की प्रक्रिया को स्पष्ट करते हुए प्रश्नावली एवं साक्षात्कार विधि द्वारा संकलित आकड़ों के विश्लेषण संदर्भित समस्याओं पर भी प्रकाश डाला। न्यादर्श तथा न्यादर्श तकनीकी विषय पर शोधार्थियों को प्रो. श्यामलता सुप्याल ने न्यादर्श की विभिन्न तकनीकियों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सामाजिक विज्ञान के शोधार्थियों को शोध कार्य में सही प्रकार से आंकड़ों को एकत्रीकरण के लिए सही प्रकार से आंकड़ों के एकत्रीकरण के लिए सही न्यादर्श तकनीकी नितांत आवश्यकीय है। आईसीएसएसआर की और से आयोजित कोर्स सूरत प्रिया सेठी, सुमित्रा चटर्जी, नीमा चौरसिया, वैशालजी, दीपिका सिंह, मेघा गंगवार, कोमल, आकृति सिंह, आफरीन राज ने भी अपने विचार व्यक्त किये। प्रो. विजया रानी ढौढियाल के मार्गदर्शन में दस दिवसीय कार्यक्रम संचालन किया जा रहा है।

Leave a Reply