UKPSC का बड़ा फैसला, प्रश्नपत्र में गलतियों पर 25 विषय विशेषज्ञों को पैनल से हटाया

UKPSC ने बड़ा फैसला लिया है, और प्रश्नपत्र में गलतियों पर 25 विषय विशेषज्ञों को पैनल से हटाया दिया।

देहरादून। उत्तराखंड लोक सेवा आयोग (Uttarakhand Public Service Commission) की पिछले दिनों हुई परीक्षाओं के प्रश्नपत्र प्रश्नों में भारी गलतियां पाई गई थी। जिसको लेकर आयोग ने अब कड़ा रुख अपना लिया है। आयोग ने अपने पैनल से 25 विषय विशेषज्ञों को हटा दिया है। इसके साथ ही देशभर से 1000 नए विषय विशेषज्ञ जोड़ने की कवायद भी शुरू कर दी है।

UKPSC का बड़ा फैसला, प्रश्नपत्र में गलतियों पर….

आपको बता दें कि, पिछले दिनों हुई उत्तराखंड लोक सेवा आयोग की कई भर्तियों में प्रश्नों के गलत जवाब या प्रश्न की त्रुटियों की वजह से आयोग को भारी फजीहत से होकर गुजरना पड़ा। सोशल मीडिया (Social Media) आदि पर युवाओं ने आयोग के गलत प्रश्नपत्र प्रश्नों को लेकर कई सवाल और कई तरह के कॉमेंट्स किये गए। जिससे की आयोग को भारी फजीहत झेलनी पड़ी।


25 विषय विशेषज्ञों को हटाया गया

आयोग के अध्यक्ष डॉ. राकेश कुमार ने इसे गंभीरता से लेते हुए विभिन्न विवि के आयोग से जुड़े 25 विषय विशेषज्ञों को मानकों के अनुरूप काम न करने का दोषी पाया है। और उन्हें स्थायी तौर पर अपने पैनल से हटा दिया है।

इसके अलावा उन्होंने परीक्षा नियंत्रक को निर्देश दिए हैं कि महत्वपूर्ण परीक्षाओं जैसे जूनियर इंजीनियर परीक्षा, पीसीएस, स्टेट इंजीनियरिंग परीक्षा, लोवर पीसीएस, असिस्टेंट प्रोफेसर भर्ती में आगामी परीक्षाओं और इंटरव्यू के लिए विषय विशेषज्ञों के उच्च मानदंड को बनाए रखा जाए।

पैनल में अनुभवी विषय विशेषज्ञों को ही शामिल किया जाए

इसके लिए देश के श्रेष्ठ संस्थानों से अनुभवी विषय विशेषज्ञों को ही पैनल में शामिल किया जाए। इसके लिए आयोग की ओर से देश के नामी विश्वविद्यालयों को ऑनलाइन लिंक उपलब्ध कराया जा रहा है। ऑनलाइन सॉफ्टवेयर का निर्माण शुरू कर दिया गया है।

एक हजार विषय विशेषज्ञों को शामिल करने का लक्ष्य

इसी कड़ी में आयोग के पास 100 विषय विशेषज्ञों की सिफारिश आई है और करीब 350 के बायोडाटा का विश्लेषण किया जा रहा है। आयोग के अध्यक्ष डॉ. राकेश कुमार ने पैनल का विस्तार करते हुए इसमें 1000 विषय विशेषज्ञों को शामिल करने का लक्ष्य तय किया है।

हल्द्वानी : तरसर झील हादसे में लापता गाइड का शव मिला, अभी भी लापता है संजीवनी हॉस्पिटल के डा. महेश

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here