Uncategorized

अल्मोड़ा : उक्रांद ने किया शहादत को नमन, कहा—शहीदों के सपनों का राज्य बनाना प्राथमिकता

सीएनई संवाददाता, अल्मोड़ा
दिनांक — 2 सितंबर, 2020

उत्तराखण्ड क्रांति दल की अल्मोड़ा जिला ईकाई ने उत्तराखण्ड राज्य आन्दोलन के उन शहीदों का भावपूर्ण स्मरण किया, जिन्होंने 2 सितम्बर 1994 को मंसूरी में शहादत दी थी। इस मौके पर शहीदों के परिवारों को उचित सम्मान देने तथा मदद देने की मांग उठाई गई।
उक्रांद नेताओं व कार्यकर्ताओं ने शहीद राज्य आंदोलनकारियों को श्रद्धांजलि देते हुए उनके संघर्ष को याद किया। मंसूरी कांड का उल्लेख करते हुए वक्ताओं ने कहा कि मंसूरी में तत्कालीन उत्तर प्रदेश सरकार ने शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारियों पर अंधाधुंध फायरिंग की थी तथा उत्तराखण्ड राज्य आन्दोलन में पहली बार पुलिस की गोली से दो महिला आंदोलनकारी हंसा धनाई व बेलमति चौहान शहीद हुई थीं। पुलिस ने इस कदर फायरिंग की कि खुद पुलिस के उपाधीक्षक को ही गोली लग गई थी और उनकी मृत्यु हो गयी। वक्ताओं ने कहा कि उक्त दो महिलाओं के अलावा बलबीर सिंह, धनपत सिंह, मदनमोहन ममगई, राय सिंह बंगारी सहित कुल 6 राज्य आन्दोलनकारी मंसूरी गोलीकाण्ड में शहीद हुए। उन्होंने राज्य आंदोलनकारियों के इस बलिदान को नमन करते हुए कहा कि राज्य आंदोलनकारियों के सपनों का राज्य बनाने के लिए उक्रांद कृत संकल्पित है। सरकार से मांग की गई कि शहीद राज्य आंदोलनकारियों के नाम पर उनके क्षेत्रों में सरकारी संस्थाओं का नामकरण किया जाये। साथ ही उनके परिवारों को उचित सम्मान तथा सहायता दी जाये।
श्रद्धांजलि कार्यक्रम में जिला संयोजक शिवराज बनौला, पूर्व केन्द्रीय उपाध्यक्ष ब्रहमानंद डालाकोटी, गिरीश साह, विधानसभा प्रभारी भानु प्रकाश जोशी, दिनेश जोशी, प्रेमबल्लभ काण्डपाल, उदय महरा, सोनू बिष्ट, मुकेश रावत, अशोक आदि उपस्थित थे।

Leave a Comment!

error: Content is protected !!