अपराधउत्तर प्रदेशउत्तराखंडदिल्लीब्रेकिंग न्यूजराजनीतिराष्ट्रीयसी एन ई विशेषहरियाणा

ब्रेकिंग न्यूज: किसान आंदोलन में घुसपैठिये का उत्तराखंड कनेक्शन, पुलिस के पास पहुंचते ही अपनी पुरानी बात से मारी पलटी

नई दिल्ली। हरियाणा के कुंडली बार्डर पर कल पकड़े गए युवक ने पुलिस की शरण में पहुंचते ही उलटबासी शुरू कर दी है। उसने आरोप लगाया है कि किसान नेताओं के दवाब में उसने कल देर रात मीडिया के सामने साजिश वाली कहानी सुनाई थी। उसने यह भी आरोप लगाया कि उसे काफी देर तक किसानों ने मारा पीटा। आज वह पुलिस के सामने अपने पुराने दावों से मुकर गया। उसकी कौन सी कहानी सच्ची है यह तो पता नहीं है लेकिन एक सच है कि युवक का कनेक्शन उत्तराखंड से है। उसने स्वयं ही बताया है कि 17-18 साल पहले उसका परिवार सोनीपत में जाकर रहने लगा था ,यहां उसका परिवार न्यू जीवन नगर का रहने वाला है। वह उत्तराखंड के कौन से जिले का रहने वाला है यह उसने नहीं बताया। युवक से अपराध जांच शाखा की टीम लगातार पूछताछ कर रही है। वहीं अब आरोपी युवक का भी एक वीडियो सामने आया है जिसमें युवक कह रहा है कि किसानों के दबाव में ही उसने पत्रकारों से बातचीत की थी।  सीआईए की टीम अब उसे दिल्ली उसके मामा के घर लेकर गई है।शुक्रवार रात को कृषि कानूनों के विरोध में आंदोलन कर रहे किसानों ने एक युवक को पकड़कर पत्रकारों के सामने उसकी बातचीत कराई थी। इस दौरान युवक ने चार किसानों की हत्या की साजिश से लेकर राई थाना के एसएचओ प्रदीप का नाम लिया था। किसानों का आरोप था कि कुछ युवक उनके आंदोलन को बदनाम करने के साथ ही चार किसान नेताओं की हत्या कराने की साजिश रच रहे हैं। 
युवक ने भी कहा था कि उनके करीब 50-60 साथी हैं, जिसमें से दस साथी राठधना गांव से है। उनमें से कुछ युवक किसानों में मिलकर पुलिस पर फायरिंग करेंगे। जिससे हंगामा हो सके। साथ ही उसने कहा था कि राई थाना प्रभारी प्रदीप कुमार ने उन्हें ऐसा करने की ट्रेनिंग दी थी। 
जांच में सामने आया था कि राई में थाना प्रभारी प्रदीप नहीं बल्कि विवेक मलिक हैं। इससे उसके बयान पर संदेह हो गया था। युवक को सीआईए के हवाले किया गया है। युवक से सीआईए की टीम लगातार पूछताछ कर रही है। युवक ने दिल्ली में अपने मामा के घर से आने की बात कही है। जिसे लेकर उसे उसके मामा के घर भी ले जाया गया।
अब आरोपी युवक का भी वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमें उसने पुलिस के सामने कहा है कि उसे किसानों ने मारपीट कर प्रेस के सामने झूठ बोलने के लिए विवश किया था। युवक ने बताया कि उसके मामा के घर बेटे का जन्म हुआ था। वह वहां से लौट रहा था। उसे किसानों ने एक दिन पहले पकड़ा था। उससे मारपीट कर उसे प्रेस के सामने झूठ बोलने को विवश किया गया था। जिसके चलते सीआईए अब पूरे मामले की सच्चाई जानने का प्रयास कर रही है। 

Leave a Comment!

error: Content is protected !!