उत्तराखंडकोविड-19जन समस्यादेहरादूनपौड़ी गढ़वालसी एन ई विशेष

ब्रेकिंग न्यूज : ग्रामीणों ने मार ही डाला निजी क्वारेंटाइन सेंटर में घुसा सांप, वन विभाग धुआं करने का टोटका बता कर चलता बना था

देहरादून। पूर्व लोकसभा चुनाव में प्रत्याशी के क्वारंटाइन सेंटर बनाए गए घर में घुसे सांप को आखिर ग्रामीणों ने मार डाला। सांप दीवार के एक छेद के सहारे अंदर जा घुसा था, सांप की लंबाई चार फीट के आसपास बताई जा रही है। हालांकि यह अच्छी खबर नहीं है लेकिन सांप की घर में उपस्थिति वहां क्वारेंटाइन किए गए लोगों की दिन रात की नींद उड़ाए हुए थी। वन विभाग के कर्मचारी क्वारेंटाइन सेंटर में सांप निकलने की खबर पर आए तो अवश्य थे लेकिन बाद में वे सांप भगाने के लिए कमरों धुआं करने का टोटका बता कर विदा हो गए थे।


पौड़ी जिले के बीरोंखाल ब्लॉक की चोरखिंण्डा ग्रामसभा के पैनवाल बंदु गांव में पूर्व लोकसभा चुनाव प्रत्याशी इं. डीपीएस रावत ने अपना घर क्वारेंटाइन सेंटर बनाने के लिए दिया था। यहां लगभग दो दर्जन के आसपास प्रवासी लोगों को क्वारेंटाइन भी किया गया। पिछले दिनों रात के समय लगभग चार फीट लंबा सांप यहां क्वारेंटाइन किए गए व्यक्ति को दिखाई पड़ा था। साँप भाग कर एक दीवार के अंदर घुस गया था । यह जानकारी वन विभाग को दी गई बताते हैं कि विभागीय कर्मचारी वहां पहुंचे भी, सांप को ढूंढने के प्रयास भी हुए लेकिन सांप नहीं मिलने पर वे कमरों में धुआंं करने की बात कह कर वापस लौट गए।
वन विभाग के कर्मचारी तो लौट गए लेकिन घर में रह रहे लोगों के मन में बैठा डर उन्हें सोने नहीं दे रहा था। ग्रामीण भी हर रोज सांप की तलाश में घर के बाहर आ डट रहे थे। आज सांप को तलाश ही लिया गया लेकिन उसे पकड़ने वाला कोई नहीं था इसलिए सांप को मार डाला गया। हालांकि अब यहां रह रहे प्रवासियों ने अब राहत की सांस ली है, लेकिन वन विभाग की धक्केशाही खुल कर सामने आ गई। यदि विभाग के कर्मचारी समय पर उसकी तलाश करके उसे पकड़ लेते तो एक बेजुबान इस तरह मारा नहीं जाता और लोगों के मन में बैठा खौफ भी खत्म हो जाता।

Leave a Comment!

error: Content is protected !!